Breaking News
  • मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने गुरू नानक जयंती की प्रदेशवासियों को दी शुभकामनाएं
  • मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने आगामी कुम्भ को लेकर मेलाधिकारी कुम्भ, जिलाधिकारी हरिद्वार के साथ ही शासन के उच्चाधिकारियों से प्राप्त किये सुझाव
  • मुख्यमंत्री ने कोविड-19 के दृष्टिगत आगामी कुम्भ मेले में स्वास्थ्य एवं सुरक्षा से सम्बन्धित व्यवस्थाओं पर की चर्चा
  • महाकुंभ 2021: लगेंगे सभी अखाड़ों के शिविर, अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद की बैठक में कई प्रस्ताव पास
  • ऋषिकेश: राम, लक्ष्मण और जानकी के बाद अब आकार लेगा बजरंग पुल, दिखेगी केदारनाथ मंदिर की झलक

बगावत करने वाले सात विधायकों को बीएसपी ने किया निलंबित

देहरादून, न्यूज़ आई: राज्यसभा चुनाव में बगावत करने वाले सात विधायकों को बीएसपी ने निलंबित कर दिया है. बीएसपी अध्यक्ष मायावती ने विधायकों के निलंबन का ऐलान किया. इसके साथ ही मायावती ने कहा कि एमएलसी के चुनाव में बसपा जैसे को तैसा का जवाब देने के लिए पूरी ताकत लगा देगी. बीजेपी को वोट देना पड़ेगा तो भी देंगे.
बीएसपी ने विधायक असलम राइनी ( भिनगा-श्रावस्ती), असलम अली (ढोलाना-हापुड़), मुजतबा सिद्दीकी (प्रतापपुर-इलाहाबाद), हाकिम लाल बिंद (हांडिया- प्रयागराज) , हरगोविंद भार्गव (सिधौली-सीतापुर), सुषमा पटेल( मुंगरा बादशाहपुर) और वंदना सिंह -( सगड़ी-आजमगढ़) को पार्टी से निलंबित कर दिया है.
बीएसपी अध्यक्ष मायावती ने कहा कि एमएलसी के चुनाव में सपा के दूसरे उम्मीदवार को हराने के लिए पूरा जोर लगाएंगे. इसके लिए अगर हमें बीजेपी को वोट देना पड़ेगा तो हम देंगे. मायावती ने कहा कि 1995 के केस को वापस लेना हमारी बड़ी गलती थी. इसके साथ ही मायावती ने समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव पर निशाना साधा.
बीएसपी अध्यक्ष मायावती ने कहा कि मेरी पार्टी ने फैसला किया था कि अगर अखिलेश यादव राज्यसभा चुनाव में अपनी पत्नी डिंपल यादव को मौका दे रहे हैं, तो बसपा उनका समर्थन करने के लिए तैयार है. सतीश चंद्र मिश्रा ने सपा नेता से संपर्क करने की कोशिश की, लेकिन उन्होंने अपना फोन नहीं उठाया और राज्य के सभी ब्राह्मण समुदाय के लोगों का अपमान है.