Breaking News
  • उत्तराखंड: चीन सीमा की सामरिक महत्व वाली चार सड़कों के निर्माण को मंजूरी, निर्माण कार्यों में आएगी तेजी
  • उत्तराखंड: परिवहन चालकों-परिचालकों को राहत, छह महीने का वाहन टैक्स हो सकता है माफ
  • देहरादून के होटलों में चीन के नागरिकों पर बैन, चीनी उत्पादों और खाद्य वस्तुओं पर भी लगाया प्रतिबंध
  • देहरादून: अब छह दिन खुलेंगे बैंक, सरकारी व निजी कार्यालय, सातों दिन खुलेगा बाजार
  • चारधाम यात्रा 2020: एक जुलाई से उत्तराखंड के तीर्थयात्रियों के लिए शुरू होगी यात्रा, बाहर के श्रद्धालु नहीं कर पाएंगे दर्शन

कोरोना के बढ़ते प्रभाव के चलते धार्मिक स्थलों पर श्रद्धालुओं के प्रवेश पर रोक

देहरादून, न्यूज़ आई। सरकार द्वारा कोरोना के बढ़ते प्रभाव के मद्देनजर धार्मिक स्थलों में भी श्रद्धालुओं के प्रवेश पर रोक लगा दी गयी है। जिससे बड़ी संख्या में लोग एक जगह इकठ्ठे नहीं हो सकेे। क्योंकि कोरोना का संक्रमित कोई व्यक्ति अगर इस भीड़ का हिस्सा होता है तो वह अनेक लोगों तक संक्रमण पहुंचा सकता है।
शासकीय प्रवक्ता मदन कौशिक ने बताया कि ऋषिकेश और हरिद्वार में विदेशी नागरिकों की बड़ी आवाजाही बड़ा खतरा है। अभी ऋषिकेश एम्स में एक विदेशी कोरोना पीड़ित के भागने और फिर उसे पुलिस द्वारा पकड़े जाने की खबर भी आयी थी। अगर भीड़ से इस संक्रमण का फैलना शुरू हो जाता है तो फिर इसे रोक पाना मुश्किल हो जायेगा। यही कारण है कि देश भर में बड़े बड़े धार्मिक स्थलों पर श्रद्धालुओं के आवागमन पर रोक लगा दी गयी है। इसी खतरे के मद्देनजर अब राजपुर रोड स्थित र्साइं मन्दिर और तिब्बती मन्दिर में भी श्रद्धालुओं के प्रवेश पर रोक लगा दी गयी है जिससे 50 से अधिक लोग एक स्थान पर जमा न हो सकें। डाक्टरों की राय है कि कोरोना का इलाज बचाव में ही निहित है इसलिए भीड़ भाड़ वाली जगहों पर जाने से जितना बचा जा सके बचें।