Breaking News
  • मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अयोध्या में श्रीराम मंदिर के निर्माण के लिए दी सहयोग राशि
  • भाजपा में शक्ति केंद्र सम्मेलनों के माध्यम से बूथ स्तर तक कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षित करने का कार्य जारी
  • उत्तराखंड क्रांति दल के कार्यकर्ताओं ने किसान बिल को वापस लिए जाने की मांग को लेकर 24 घंटे का उपवास रखा
  • जेल से चल रहे कुख्यातों के नेटवर्क का भंडाफोड, कुख्यात भूरा कैदी की पत्नी से मांग रहा था फिरौती
  • प्रदेश के शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे को अपने गृह क्षेत्र में किसानों के तीखे विरोध का सामना करना पड़ा

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत की नाराजगी खुलकर आई सामने !

देहरादून, न्यूज़ आई: कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत के सामूहिक नेतृत्व में चुनाव लड़ने को लेकर इनकार के बाद बुधवार को कांग्रेस में विवाद और बढ़ गया। रावत ने प्रदेश स्तर पर अपनी उपेक्षा के सारे मामले गिनाए और कहा कि पार्टी ने मुझे सामूहिकता के लायक नहीं समझा। 
बुधवार को भी उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने सामूहिक नेतृत्व में प्रदेश में चुनाव लड़ने के प्रति विरोध के रुख को जारी रखा। कुमाऊं दौरे पर पहुंचे हरीश रावत ने बुधवार को भी दो अलग-अलग ट्वीट किए और फेसबुक पर पोस्ट साझा की। दूसरे ट्वीट में रावत ने अपनी नाराजगी को भी खुलकर सामने रखा।
पूर्व मुख्यमंत्री ने लिखा, ‘कांग्रेस ने मुझे सामूहिकता के लायक नहीं समझा’। रावत के मुताबिक यह उसी दिन साफ हो गया था जिस दिन पार्टी के मंच से संगठन महामंत्री ने पार्टी के नेताओं की जय बुलवाई और नए बने राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत को मंच से जिंदाबाद बुलवाने लायक नहीं समझा गया। 
प्रदेश स्तर पर पार्टी में अपनी उपेक्षा को गिनाते हुए पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि उनके लिए तो कई बार मंच पर भी स्थान नहीं रहता। उन्हें अपना मोड़ा साथ लेकर चलना पड़ता है। रावत ने लिखा कि पार्टी के आधिकारिक पोस्टरों में मेरा नाम और चेहरा स्थान नहीं पा पाया, लेकिन उन्होंने इस पर बात नहीं की।

Leave a Reply