Breaking News
  • मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के बेहतर क्रियान्वयन को लेकर मुख्यमंत्री कार्यालय में किया गया प्रकोष्ठ का गठन
  • अयोध्या में श्रीराम मंदिर के भूमि पूजन एवं शिलान्यास के उपलक्ष्य में मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने अपने आवास में दीप प्रकाशित किए
  • मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने रूद्रपुर में 300 बेड के कोविड-19 हाॅस्पिटल का किया लोकार्पण
  • मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने रूद्रपुर में विकास कार्यो के साथ ही कोविड 19 को लेकर की समीक्षा बैठक
  • राज्य कैबिनेट की बैठक में लिए गए कई अहम निर्णय, कर्मचारी पदोन्नति परित्याग नियमावली को मंजूरी

डेंगू-मलेरिया से कैसे करें बचाव, मेयर ने की पार्षदों के साथ बैठक

देहरादून, न्यूज़ आई। डेंगू-मलेरिया पर नियंत्रण और बचाव को लेकर गुरूवार को मेयर सुनील उनियाल गामा की अध्यक्षता में 50 वार्डों के पार्षदों के साथ बैठक आयोजित की गई। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए ये बैठक हुई। दो चरणों में होने वाली बैठक के पहले चरण में 1 से 50 वार्ड तक के पार्षद मौजूद रहे। वार्ड 51 से 100 तक के पार्षदों की बैठक शुक्रवार को ली जाएगी। सभी पार्षदों से डेंगू से बचाव के लिए लिखित शिकायत करने का आग्रह किया गया। पार्षदों के सुझाव भी लिए गए. बैठक में मेयर सुनील उनियाल गामा ने यह निर्णय लिया कि सभी पार्षद अपने-अपने वार्डों की ऐसी जगह जहां गड्ढे हैं और उनमें पानी जमा होता है, उनकी सूची मुख्य नगर स्वास्थ्य अधिकारी को उपलब्ध कराएंगे। जिससे उन गड्ढों को भरने और उनमें जमा पानी को निकालने के साथ नियमित रूप से दवा का छिड़काव करने की व्यवस्था नगर निगम द्वारा की जा सके। मेयर ने कहा कि जो भी सुझाव आएंगे, उनकी मॉनिटरिंग नगर आयुक्त करेंगे और जिन पार्षदों ने समस्या लिखकर दी है उसका समय रहते समाधान करेंगे। सभी पार्षद अपने-अपने वार्डों में लोगों को जागरूक करने का काम करेंगे। साथ ही बताएंगे कि घरों में रखे गमलों, कूलर, पुराने टायर, टिन के डिब्बे आदि में पानी इकट्ठा ना होने दें। कूलर आदि को धूप में सुखाएं और अन्य सामान को समय रहते हटवाएं. सभी पार्षद अपने वार्डों में लोगों को सूचना दें कि किसी के भी घर में गमलों और अन्य सामान में पानी जमा पाया जाता है तो नगर निगम उनके खिलाफ पांच सौ रुपए तक के चालान की कार्रवाई करेगा।