Breaking News
  • मुख्यमंत्री ने की विद्यालयी शिक्षा विभाग की समीक्षा, शिक्षा की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान दिये जाने के दिये निर्देश
  • छात्रों को अंग्रेजी एवं कम्प्यूटर शिक्षा प्रदान करने के लिये विद्यालयों में अंग्रेजी एवं कम्प्यूटर के गेस्ट टीचरों की, की जायेगी व्यवस्था
  • प्रदेश में कक्षा 9 से 12 तक के सभी वर्गों के छात्रों को भी अगले वर्ष से निशुल्क उपलब्ध करायी जायेगी पाठ्य पुस्तकें
  • मुख्यमंत्री ने उद्योग विभाग द्वारा आयोजित आजादी के अमृत महोत्सव के अवसर पर वाणिज्य उत्सव में मुख्य अतिथि के रूप में प्रतिभाग किया
  • मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने “अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद“ के अध्यक्ष श्री महंत नरेन्द्र गिरी के निधन पर शोक व्यक्त किया

केजरीवाल ने किया उत्तराखंड में 300 यूनिट बिजली फ्री देने व पुराने बिल माफ करने का वायदा

देहरादून, आजखबर। आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक एवं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उत्तराखंड के लोगों से 300 यूनिट बिजली फ्री और पुराने बिजली बिल माफ के वायदे किए। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में 24 घंटे बिजली देंगे। वहीं उत्तराखंड के किसानों को मुफ्त बिजली दी जाएगी।
देहरादून में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में अरविंद केजरीवाल ने कहा कि उत्तराखंड आकर अच्छा लग रहा है। भगवान ने इस देवभूमि को सब कुछ दिया। यहां मेहनती, अच्छे और ईमानदार लोग हैं, लेकिन उत्तराखंड के नेताओं और पार्टियों ने इसे बर्बाद करने में कोई कसर नहीं छोड़ी। केजरीवाल ने कहा कि मैं बिजली के क्षेत्र में चार बातों की गारंटी देकर जा रहा हूं। पहली-दिल्ली की तरह उत्तराखंड में हर परिवार को 300 यूनिट बिजली फ्री देंगे। दिल्ली में 200 यूनिट फ्री है। दूसरी-हमारे कार्यकर्ता घर-घर जा रहे हैं। तमाम ऐसे बिजली बिल देखने को मिले जो गलत भेजे जा रहे हैं। लोग चक्कर काट रहे हैं। लिहाजा पुराने बिल माफ किए जाएंगे। तीसरी-कोई पावर कट नहीं लगेगा। उत्तराखंड में 24 घंटे बिजली देंगे। दिल्ली में जब मैं सीएम बना तो गर्मियों में 8 घंटे का पावर कट होता था। हमने घर-घर जाकर काम करवाया। आज दिल्ली में 24 घंटे बिजली है। चौथी- उत्तराखंड के किसानों को मुफ्त बिजली दी जाएगी। आज किसान गरीब है। अगर उसे ये लाभ देंगे तो उसकी जिंदगी आसान होगी।
केजरीवाल ने कहा कि उत्तराखंड में हमारी सरकार बनने के बाद पहली कलम से ये चार घोषणाएं लागू कर दी जाएगी। केवल 24 घंटे बिजली देने के मामले में 3-4 साल का समय लगेगा। मैं समझता हूं कि आज की इस घोषणा के बाद यहां के लोग खुश होंगे। उत्तराखंड की सरकार घाटे में चल रही है के सवाल पर केजरीवाल ने कहा कि जब हमारी सरकार दिल्ली में बनी थी तो वहां भी घाटे में सरकार चलती थी। आज देश में केवल दिल्ली की सरकार लाभ में है। दिल्ली का बजट 60 हजार करोड़ है। यहां बिजली में 2200 करोड़ का खर्च आता है। उत्तराखंड के 50 हजार करोड़ बजट में से केवल 1200 करोड़ का खर्च आएगा। कहा कि गवर्नेंस के दो मॉडल हैं एक मॉडल भ्रष्टाचार का है जो यहां की पार्टियां अपना रही हैं। दूसरा मॉडल हमारा है। हम वादा कर रहे हैं कि हमारी सरकार आई तो हम पांच साल तक टैक्स नहीं बढ़ाएंगे। कोई अतिरिक्त टैक्स नहीं लगाएंगे। चोरी रोकेंगे। हम चोरी नहीं करते। हम जनता के फंड से चलने वाली पार्टी हैं। केजरीवाल ने कहा कि आज उत्तराखंड में दो पार्टियां है। चक्की के दो पाटों की तरह इन दोनों पार्टियों के बीच में उत्तराखंड की जनता पिस रही है। दोनों पार्टियों ने आपस में सेटिंग्स कर रखी है। एक बार तुम, एक बार हम। सत्ताधारी पार्टी के पास सीएम ही नहीं है। कहा कि पहली बार ऐसा हुआ होगा जिसके तहत कोई पार्टी अपने ही सीएम को कह रही है कि हमारा सीएम बेकार है। कहा कि कांग्रेस एक महीने से विपक्ष का नेता ही नहीं चुन पा रही है। इन पार्टियों को जनता के विकास से कोई लेना देना नहीं है। लोगों की आमदनी बढ़ नहीं रही, खर्चे बढ़ते जा रहे हैं। उत्तराखंड जो बिजली बनाता है, दूसरे राज्यों को बिजली बेचता है, क्या किसी ने यहां की जनता को मुफ्त बिजली के बारे में सोचा? बिल्कुल नहीं, क्योंकि वह अपनी सत्ता के चक्कर में पड़े हुए हैं। मैंने यहां के एक मंत्री को टीवी में सुना वह कह रहे थे कि हम 100 यूनिट बिजली फ्री देंगे। सुनकर अच्छा लगा, लेकिन चुनाव के ठीक पहले यह घोषणा पता नहीं पूरी होगी या नहीं। इस पर 24 घंटे के अंदर ही यहां के सीएम ने कह दिया कि ऐसा कोई प्रस्ताव नहीं है तो यहां की जनता को छह माह भी इंतजार नहीं करना पड़ा। उत्तराखंड के हर परिवार से कोई न कोई दिल्ली में रहता है। जो काम 70 साल में सभी पार्टियां नहीं कर पाई, वह आज दिल्ली में हो रहा है। वैसा ही विकास यहां उत्तराखंड में भी होगा। मैं उत्तराखंड के लोगों को भरोसा दिलाना चाहूंगा कि जो काम दिल्ली में किए वो तो करेंगे ही, इसके अलावा और काम भी करेंगे। केजरीवाल जो कहता है, वो करता है।
इस दौरान उन्होंने कहा कि जल्दी ही उत्तराखंड आऊंगा और आपके सामने उत्तराखंड के सीएम फेस की घोषणा करके जाऊंगा। कहा कि आज हमारे देश में दो तरह की शिक्षा है। एक गरीब की और एक पैसे वाले की। यह मुद्दा मेरे दिल के करीब है। हमने दिल्ली में सरकारी स्कूल ऐसे कर दिए कि बड़े-बड़े घर के लोग भी सरकारी स्कूलों में बच्चों के दाखिले कर रहे हैं। हमने पांच साल से दिल्ली में प्राइवेट स्कूलों को फीस नहीं बढ़ने दी। आप हमारी सरकार बनवाइये, हम स्कूलों से आपके पैसे वापस कराएंगे। कहा कि जितनी भी राज्य सरकारें हैं, उनके पास पेट्रोल का मामूली टैक्स आता है। इसलिए सबको केंद्र सरकार से टैक्स कम करने की मांग करनी चाहिए। रोजगार को लेकर हमारी पार्टी में पूरा प्लान बन रहा है। हम जल्दी ही अपनी योजना आप सबके सामने रखेंगे। पत्रकार वार्ता में आप के प्रदेश प्रभारी दिनेश मोहानिया व कर्नल अजय कोठियाल आदि मौजूद रहे।