Breaking News
  • मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने गुरू नानक जयंती की प्रदेशवासियों को दी शुभकामनाएं
  • मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने आगामी कुम्भ को लेकर मेलाधिकारी कुम्भ, जिलाधिकारी हरिद्वार के साथ ही शासन के उच्चाधिकारियों से प्राप्त किये सुझाव
  • मुख्यमंत्री ने कोविड-19 के दृष्टिगत आगामी कुम्भ मेले में स्वास्थ्य एवं सुरक्षा से सम्बन्धित व्यवस्थाओं पर की चर्चा
  • महाकुंभ 2021: लगेंगे सभी अखाड़ों के शिविर, अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद की बैठक में कई प्रस्ताव पास
  • ऋषिकेश: राम, लक्ष्मण और जानकी के बाद अब आकार लेगा बजरंग पुल, दिखेगी केदारनाथ मंदिर की झलक

केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने अरिहंत मल्टी स्पेशलिटी कोविड-19 हॉस्पिटल का किया शुभारंभ

देहरादून,न्यूज़ आई। उत्तराखंड में कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए मरीजों के बेहतर उपचार के लिए अरिहंत अस्पताल ने अपने मल्टी स्पेशलिटी हॉस्पिटल का शुभारंभ किया जिसका उद्घाटन केंद्रीय मानव विकास संसाधन मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल निशंक वह भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत, राज्यमंत्री राजकुमार पुरोहित ने किया। इस अवसर पर केंद्रीय मंत्री ने अस्पताल के शुभारंभ पर डॉक्टर अभिषेक जैन को बधाई दी और कहा कि कोविड-19 की वर्तमान परिस्थितियों का सामना सभी को करना पड़ रहा है ऐसे में इस महामारी से बचने की आवश्यकता है और जो लोग संक्रमित हो रहे हैं उनका उपचार भी बेहतर तरीके से हो इसका भी ध्यान रखना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के मरीजों के लिए एक अलग तरह का अस्पताल शुरू करना सराहनीय कदम है। अस्पताल के बारे में जानकारी देते हुए अरिहंत हॉस्पिटल के निदेशक डॉक्टर अभिषेक जैन व डॉ विदुषी जैन ने बताया कि यह अस्पताल स्वास्थ्य विभाग के सभी मानकों के अनुरूप है जैसे कि एन ए बी एच क्लिनिकल एस्टेब्लिशमेंट एक्ट ऑटोमिक एनर्जी रेगुलेटरी बोर्ड आदि शामिल है। उन्होंने बताया कि आधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित अस्पताल में एडवांस लाइफ सपोर्ट फैसिलिटी, सी.टी स्कैन, अल्ट्रा साउंड, इत्यादि की सुविधा उपलब्ध है अस्पताल में कोविड-19 के सभी तरह के मरीजों का उपचार क्वालिफाइड डॉक्टर्स एवं स्टाफ द्वारा किया जाएगा। अस्पताल में आधुनिक लैबोरेट्री मौजूद है जहां हर तरह की जांच की जा सकती है। उद्घाटन के अवसर पर भाजपा मंडल अध्यक्ष विशाल गुप्ता, डॉक्टर विदुषी जैन, प्रदीप जैन, प्रवीण जैन, अभिनव जैन, प्रशासनिक अधिकारी इंद्रवीर राणा, डॉ विजय त्यागी, डॉक्टर सिद्धांत खन्ना, डॉ अनिल राजपूत, डॉ बी एन त्रिपाठी आदि मौजूद रहे।