Breaking News
  • मुख्यमंत्री ने उद्योग विभाग द्वारा आयोजित आजादी के अमृत महोत्सव के अवसर पर वाणिज्य उत्सव में मुख्य अतिथि के रूप में प्रतिभाग किया
  • मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने “अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद“ के अध्यक्ष श्री महंत नरेन्द्र गिरी के निधन पर शोक व्यक्त किया
  • मुख्यमंत्री ने राजपुर रोड स्थित होटल में आयोजित सम्मान समारोह में कोरोना योद्धाओं को प्रशस्ति पत्र एवं स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया
  • मुख्यमंत्री ने किया मसूरी विधानसभा क्षेत्र की 70 करोड़ रूपये की योजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास
  • मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने ऋषिकेश में जन आशीर्वाद रैली में प्रतिभाग किया, इस अवसर पर उन्होंने 12 घोषणा की

उत्तराखंडः मसूरी में बिना आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट के बाहरी राज्यों के पर्यटकों की नो एंट्री

देहरादून, न्यूज़ आई। वीकेंड पर मसूरी में अब बाहरी राज्यों के पर्यटक बिना आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट के नहीं घुस पाएंगे। इसके लिए पुलिस किमाड़ी और कुठालगेट में प्रभावी चेकिंग चलाकर लोगों की आरटीपीसीआर रिपोर्ट, रजिस्ट्रेशन और होटल बुकिंग संबंधी दस्तावेज चेक करेगी। इसके अलावा सहस्रधारा सहित अन्य पर्यटन स्थलों में भी भीड़ को नियंत्रित करने के लिए प्रयास किए जाएंगे।
इसके साथ ही मसूरी से करीब 16 किलोमीटर दूसर स्थित टिहरी जिले के प्रमुख पर्यटक स्थल कैंपटीफॉल झरने में अब एक बार में 50 पर्यटक ही नहा पाएंगे। कैंपटीफॉल जाने वाले पर्यटकों की संख्या को भी नियंत्रित करने का प्रयास प्रशासन ने किया है। बीते दिनों कैंपटीफॉल झरने के वीडियो वायरल हुए थे। इनमें देखा जा सकता है कि कैसे लोग कोरोना नियमों की धज्जियां उड़ा रहे हैं। इसे लेकर एक दिन पहले ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चेताया था। जिसके बाद प्रशासन ने सख्ती बरती है। कोरोना संक्रमण कम होने के कारण राज्य सरकार ने कई व्यावसायिक व पर्यटन से जुड़ी गतिविधियों में छूट दी है। इसके कारण मसूरी सहित दून के प्रमुख पर्यटन स्थलों पर वीकेंड पर जमकर भीड़ उमड़ रही है। पर्यटकों की ओर से कोविड नियमों का उल्लंघन भी किया जा रहा है। बढ़ती भीड़ को नियंत्रित करने के लिए एसएसपी डॉ. योगेंद्र सिंह रावत ने शुक्रवार को पुलिस अधिकारियों की बैठक कर इसके लिए कार्ययोजना तैयार की है। इसके तहत मसूरी में वीकेंड में भीड़ कम करने के लिए बिना आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट के बाहरी राज्यों के पर्यटकों पर प्रतिबंध लगाने का फैसला लिया गया है।