Breaking News
  • अंतिम पंक्ति पर खड़े लोगों तक सरकार की योजनाओं को पहुंचाने के प्रयास किये जा रहे हैं: सीएम पुष्कर सिंह धामी
  • मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार द्वारा प्रदेश के समग्र विकास के लिए हरसंभव प्रयास किये जा रहे हैं
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सर्वे चौक स्थित आईआरडीटी सभागार में उत्तराखण्ड जन विकास समिति के ‘‘पहल 2021’’ अधिवेशन का शुभारम्भ किया
  • मुख्यमंत्री ने कहा कि जल्द ही मैत्रैयी नाम से छात्राओं के लिए मेंटरशिप कार्यक्रम प्रारंभ किया जाएगा इसके लिए एक पोर्टल भी विकसित किया जा रहा है
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने टाॅप करने वाली मेधावी बालिकाओं को स्मार्ट फोन वितरित किये

प्रदेश में 439 नए कोरोना संक्रमित मामले आए सामने

देहरादून, न्यूज़ आई। प्रदेश में बुधवार को 439 नए कोरोना संक्रमित मामले सामने आए, इसके बाद राज्य में संक्रमितों की संख्या 10887 हो गई है। बुधवार को 217 लोग ठीक हुए हैं। राज्य में सक्रिय मामलों की संख्या 4020 है।
रुद्रप्रयाग जिले में बुधवार को कोरोना के दो नए मामले सामने आए। तल्लानागपुर पट्टी के क्वीली गांव में एक पूर्व सैनिक के कोरोना संक्रमित मिलने से ग्रामीणों में हड़कंप मच गया है। प्रशासन ने गांव के एक निश्चित क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन बना दिया है। इस दायरे में रहने वाले ग्रामीणों को सैंपल लेने व जांच रिपोर्ट आने तक गांव में ही रहने के आदेश दिए गए हैं। क्वीली गांव के भूतपूर्व सैनिक कुछ दिन पूर्व रुद्रप्रयाग आर्मी कैंटीन में सामान लेने आए थे और यहां कोरोना संक्रमित के संपर्क में आ गए। भूतपूर्व सैनिक के संक्रमित होने के बाद से ग्रामीणों में भी भय बना हुआ है। जबकि दूसरा संक्रमित दिल्ली से आया हुआ है, जो क्वारंटीन था। प्रशासनिक अधिकारियों के मुताबिक भूतपूर्व सैनिक के संपर्क में आए लोगों को ढूंढा जा रहा है। सीएमओ डा. बीपी शुक्ला ने बताया कि बृहस्पतिवार को गांव के लोगों के सैंपल लेकर कोरोना जांच के लिए भेजे जाएंगे। हरिद्वार में कोरोना से पीड़ित राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के नगर संचालक नरेंद्र पाल का बुधवार सुबह ऋषिकेश एम्स अस्पताल में निधन हो गया। 76 वर्षीय नरेंद्र पाल सिंह कोरोना संक्रमण के चलते एम्स में भर्ती थे। बुधवार सुबह ह्दय गति रुकने से उनका निधन हो गया। नरेंद्र पाल के आकस्मिक निधन की सूचना पर संघ परिवार में शोक की लहर दौड़ गई। वह बीएचईएल में सेवा के दौरान भारतीय मजदूर संघ में सक्रिय रहे। सेवानिवृत्त होने के बाद वह सेवा भारती के जिला प्रमुख और प्रांतीय सदस्य रहे। सरस्वती शिशु विद्या मंदिर सेक्टर-2 भेल के प्रबंधक के अलावा नगर संचालक का दायित्व निभा रहे थे।