Breaking News
  • केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने प्रदेश के आपदा प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण कर हालात का जायजा लिया
  • मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी राज्य के अतिवृष्टि से प्रभावित क्षेत्रों में पूरे समर्पित भाव से जनता के बीच मौजूद हैं
  • हेलीकॉप्टर टेक ऑफ न कर सका तो स्थलीय मार्ग से ही निकल पड़े जनता का दुख दर्द बांटने
  • सीएम पुष्कर सिंह धामी के तूफानी दौरे, त्वरित फैसले, कड़क मॉनिटरिंग से आपदा प्रभावितो को मिली राहत
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बुधवार को प्रातः सर्किट हाउस काठगोदाम में जन समस्याएं सुनी

राज्य में कोरोना संक्रमण के 831 नए मामले सामने आए, 12 की मौत

देहरादून, न्यूज़ आई। शुक्रवार को उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण के 831 नए मामले सामने आए। वहीं 12 कोरोना संक्रमितों की मौत हुई है। आज पांच सौ दो मरीज ठीक हुए हैं। राज्य में कुल मरीजों की संख्या 23011 है। जिसमें से 7187 मामले वर्तमान में सक्रिय हैं। अभी तक 15447 मरीज ठीक हो चुके हैं। राज्य में 312 कोरोना संक्रमितों की मौत हुई है।
राजकीय दून मेडिकल अस्पताल में कोरोना संक्रमित चार और मरीजों की जान चली गई। जबकि एक युवक जिसकी मौत हुई है, उसके सैंपल की जांच रिपोर्ट शाम तक नहीं आई थी। चिंता की बात यह है कि मरने वालों में युवाओं की संख्या भी बढ़ रही है। अस्पताल प्रशासन से मिली जानकारी के अनुसार, प्रेमनगर निवासी 70 वर्षीय महिला को 27 अगस्त को परिजनों ने अस्पताल में भर्ती कराया था। महिला की गंभीर स्थिति को देखते हुए उन्हें आईसीयू में भर्ती रखा गया था। देर रात महिला की मौत हो गई। इसी तरह श्यामपुर अंबीवाला निवासी 51 वर्षीय महिला को 25 अगस्त को दून मेडिकल अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उन्हें भी डॉक्टरों ने आईसीयू में भर्ती किया था, लेकिन डॉक्टर महिला की जान नहीं बचा सके। महिला ने गुरुवार रात दम तोड़ दिया।
सिंगुरी, घनेरी डूंडा, जिला उत्तरकाशी निवासी 34 वर्षीय युवक को परिजनों ने एक सितंबर को अस्पताल में भर्ती कराया था। इस युवक को भी हालत बिगड़ने पर आईसीयू में भर्ती किया गया, लेकिन युवक की जान नहीं बच सकी। युवक को सांस लेने में दिक्कत हो रही थी। गुरुवार की देर रात युवक ने अंतिम सांस ली। उसके सैंपल को कोरोना जांच के लिए लैब भेजा गया था, लेकिन अब तक उसकी रिपोर्ट नहीं आई थी। इसलिए मृत युवक को स्वास्थ्य विभाग और अस्पताल प्रशासन फिलहाल संदिग्ध कोरोना मरीज मानकर चल रहा है। वहीं, ओल्ड डालनवाला, करनपुर निवासी 35 साल के युवक को परिजन तीन सितंबर को दून मेडिकल अस्पताल में लाए थे। जहां देर रात युवक ने आईसीयू में दम तोड़ दिया। जबकि, शिवलोक कॉलोनी, रायपुर निवासी 75 वर्षीय बुजुर्ग को 28 अगस्त को दून अस्पताल में भर्ती कराया गया था। गुरुवार को बुजुर्ग ने आईसीयू में उपचार के दौरान अंतिम सांस ली। सभी शवों का परिजनों और पुलिस की मदद से अस्पताल प्रशासन ने कोविड गाइडलाइन के हिसाब से रायपुर स्पोटर्स कॉलेज के सामने स्थित श्मशान घाट पर अंतिम संस्कार कराया। भाजपा महानगर अध्यक्ष समेत पांच पदाधिकारी सेल्फ क्वारंटीन हो गए हैं। शुक्रवार को महानगर अध्यक्ष सीताराम भट्ट ने इसकी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि उनके साथ ही महानगर महामंत्री सतेंद्र नेगी व रतन चैहान, सोशल मीडिया प्रभारी अनुराग भाटिया व कार्यालय प्रभारी आनंद प्रकाश नौटियाल 8 सितंबर तक सेल्फ क्वारंटीन रहेंगे। इस दौरान जनता एवं अन्य लोगों के लिए फोन के जरिये उपलब्ध रहेंगे। वहीं, संगठनात्मक कार्य वर्चुअल माध्यम से जारी रखेंगे।