Breaking News
  • मुख्यमंत्री ने की विद्यालयी शिक्षा विभाग की समीक्षा, शिक्षा की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान दिये जाने के दिये निर्देश
  • छात्रों को अंग्रेजी एवं कम्प्यूटर शिक्षा प्रदान करने के लिये विद्यालयों में अंग्रेजी एवं कम्प्यूटर के गेस्ट टीचरों की, की जायेगी व्यवस्था
  • प्रदेश में कक्षा 9 से 12 तक के सभी वर्गों के छात्रों को भी अगले वर्ष से निशुल्क उपलब्ध करायी जायेगी पाठ्य पुस्तकें
  • मुख्यमंत्री ने उद्योग विभाग द्वारा आयोजित आजादी के अमृत महोत्सव के अवसर पर वाणिज्य उत्सव में मुख्य अतिथि के रूप में प्रतिभाग किया
  • मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने “अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद“ के अध्यक्ष श्री महंत नरेन्द्र गिरी के निधन पर शोक व्यक्त किया

देश के कृषि जगत में पैदा होगी नई क्रांति: प्रकाश जावड़ेकर

देहरादून, न्यूज़ आई। केंद्रीय सूचना व प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि केंद्रीय कैबिनेट द्वारा पारित तीन अध्यादेशों के लागू होने के बाद देश के कृषि जगत में नई क्रांति पैदा होगी। श्री जावड़ेकर भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ताओं और प्रदेशों के मीडिया प्रभारियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए संवाद कर रहे थे। भाजपा के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी अनिल बलूनी के संयोजन में आयोजित इस विडियो कांफ्रेंसिंग में श्री जावड़ेकर ने तीनों अध्यादेशों के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने कहा कि केंद्रीय कैबिनेट ने आज कृषि उत्पादन व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन व सुविधा), मूल्य आश्वासन पर किसान (बंदोबस्ती और सुरक्षा) समझौता और कृषि सेवा अध्यादेश और आवश्यक वस्तु अधिनियम में संशोधन कर कृषि क्षेत्र में आमूल चूल बदलाव के लिए काम किया है। उन्होंने कहा कि अध्यादेश के लागू होने के बाद किसानों को कई तरीके की सहूलियत मिलेंगी। किसानों को अपने उत्पाद बेचने के लिए अधिक विकल्प मिलेंगे। कृषि उत्पादों का मुक्त व्यापार सुगम होगा और किसान राज्य के भीतर व बाहर कहीं भी व्यापार कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि किसान किसी प्रकार के शोषण के भय के बिना समानता के आधार पर प्रसंस्करणकर्ताओं, एग्रीगेटर्स, थोक विक्रेताओं आदि से जुड़ने में सक्षम होंगे। बिचौलियें की भूमिका खत्म होगी। उन्होंने कहा कि सरकार ने इन अधिनियमों के जरिए नियामकीय व्यवस्था को उदार बनाने के साथ उपभोक्ताओं के हितों की रक्षा भी सुनिश्चित की है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने यह निर्णय लेकर किसानों की पीड़ा को गहराई से समझा है। वीडियो कांफ्रेंसिंग में प्रदेश भाजपा मीडिया प्रभारी अजेंद्र अजय जुड़े थे।