Breaking News
  • मुख्यमंत्री ने की विद्यालयी शिक्षा विभाग की समीक्षा, शिक्षा की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान दिये जाने के दिये निर्देश
  • छात्रों को अंग्रेजी एवं कम्प्यूटर शिक्षा प्रदान करने के लिये विद्यालयों में अंग्रेजी एवं कम्प्यूटर के गेस्ट टीचरों की, की जायेगी व्यवस्था
  • प्रदेश में कक्षा 9 से 12 तक के सभी वर्गों के छात्रों को भी अगले वर्ष से निशुल्क उपलब्ध करायी जायेगी पाठ्य पुस्तकें
  • मुख्यमंत्री ने उद्योग विभाग द्वारा आयोजित आजादी के अमृत महोत्सव के अवसर पर वाणिज्य उत्सव में मुख्य अतिथि के रूप में प्रतिभाग किया
  • मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने “अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद“ के अध्यक्ष श्री महंत नरेन्द्र गिरी के निधन पर शोक व्यक्त किया

डीएम ने मुख्यमंत्री की गयी घोषणाओं के क्रियान्वयन की प्रगति की समीक्षा की

हरिद्वार, न्यूज़ आई। जिलाधिकारी सी रविशंकर ने कलेक्ट्रेट सभागार में मुख्यमंत्री द्वारा की गयी घोषणाओं के क्रियान्वयन की विधानसभा वार अद्यावधिक प्रगति की समीक्षा की। डीएम ने जनपद के लिए की गयी समस्त घोषणाओं की स्थिति पर विभागीय अधिकारियों से जानकारी ली। अधिकारियों ने अभी तक पूर्ण हो चुकी घोषणाओं तथा गतिमान घोषणाओ पर चल रहे कार्यो की अंतिम समय सीमा की जानकारी डीएम को दी। अधिकारियों से पूर्ण होने में हुई देरी के कारणों सहित अधिकारियों को बैठक में बुलाया था। जिस पर अधिकांश मामलों में जमीन उपलब्ध न हो पाने, भूमि विवाद, देरी से बजट आवंटन के चलते कार्य वर्तमान में गतिमान हैं। कोरोना के दृष्टिगत भी घोषणा कार्यो के पूर्ण होने में देरी रही। जो कार्य विभागों से परिर्वतित हुए हैं उन्हें भी स्पष्ट करते हुए पुनः जानकारी देंगे विभाग। जिलाधिकारी ने कहा कि शेष रहे छोटे कार्यो को जुलाई अंत तक रिपोर्ट दी जाये, विवादित कार्यो में सभी एसडीएम अपने क्षेत्र में रूके हुए कार्यो का भौतिक निरीक्षण करेंगे और विवाद की स्थिति को समाप्त कराते हुए कार्य शीघ्र आरम्भ करायेंगे। विधानसभा रानीपुर भेल में कुल 19 , ज्वालापुर विधान सभा में कुल 21 , हरिद्वार ग्रामीण में कुल 27 , विधान सभा हरिद्वार में कुल 29, विधान सभा खानपुर में कुल 36, विधान सभा लक्सर में कुल 29, विधान सभा झबरेड़ा में कुल 17, विधान सभा भगवानपुर में कुल 08, विधान सभा कलियर में कुल 06 मुख्यमंत्री घोषणाओं की समीक्षा जिलाधिकारी ने की।