Breaking News
  • अंतिम पंक्ति पर खड़े लोगों तक सरकार की योजनाओं को पहुंचाने के प्रयास किये जा रहे हैं: सीएम पुष्कर सिंह धामी
  • मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार द्वारा प्रदेश के समग्र विकास के लिए हरसंभव प्रयास किये जा रहे हैं
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सर्वे चौक स्थित आईआरडीटी सभागार में उत्तराखण्ड जन विकास समिति के ‘‘पहल 2021’’ अधिवेशन का शुभारम्भ किया
  • मुख्यमंत्री ने कहा कि जल्द ही मैत्रैयी नाम से छात्राओं के लिए मेंटरशिप कार्यक्रम प्रारंभ किया जाएगा इसके लिए एक पोर्टल भी विकसित किया जा रहा है
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने टाॅप करने वाली मेधावी बालिकाओं को स्मार्ट फोन वितरित किये

ICMR के सेरो सर्वे में आया सामने, 1% आबादी में भी संक्रमण नहीं

नई दिल्ली: ICMR के सेरो सर्वे में सामने आया है कि सिर्फ 0.73 प्रतिशत सैंपल पॉपुलेशन कोविड 19 से संक्रमित है. आईसीएमआर द्वारा किए गए सेरो सर्विलांस स्टडी में ये खुलासा किया गया कि जिस आबादी पर सर्वे किया गया, उसमें 0.73 फीसदी में SARS-CoV-2 से संक्रमित होने के लक्षण दिखे. गुरुवार को ब्रीफिंग में आईसीएमआर के डायरेक्टर जनरल डॉ. बलराम भार्गव ने ये बात कही. कोविड-19 को लेकर आईसीएमआर ने अपना पहला सेरो सर्वे स्टेट हेल्थ डिपार्टमेंट्स, एनसीडीसी और डब्ल्यूएचओ इंडिया के सहयोग से मई में किया था. ये अध्ययन 83 जिलों में किया गया था जिसमें 28,595 परिवारों के 26,400 लोग शामिल थे. इस अध्ययन में यह भी साफ तौर पर कहा गया है कि लॉकडाउन के दौरान जो उपाय किए गए उससे संक्रमण फैलने की दर कम रही है और कोविड-19 कम तेजी से फैला. आईसीएमआर ने आकलन किया है कि ग्रामीण इलाकों की तुलना में शहरों में संक्रमण फैलने का खतरा 1.09 प्रतिशत तक ज्यादा है और शहरी स्लम में 1.89 फीसदी तक और ज्यादा.
हालांकि संक्रमण से मृत्यु दर ​बहुत कम 0.08 प्रतिशत है. वहीं ठीक होने वाले मरीजों की संख्या एक्टिव मामलों से ज्यादा हो गई है.