Breaking News
  • मुख्यमंत्री ने की विद्यालयी शिक्षा विभाग की समीक्षा, शिक्षा की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान दिये जाने के दिये निर्देश
  • छात्रों को अंग्रेजी एवं कम्प्यूटर शिक्षा प्रदान करने के लिये विद्यालयों में अंग्रेजी एवं कम्प्यूटर के गेस्ट टीचरों की, की जायेगी व्यवस्था
  • प्रदेश में कक्षा 9 से 12 तक के सभी वर्गों के छात्रों को भी अगले वर्ष से निशुल्क उपलब्ध करायी जायेगी पाठ्य पुस्तकें
  • मुख्यमंत्री ने उद्योग विभाग द्वारा आयोजित आजादी के अमृत महोत्सव के अवसर पर वाणिज्य उत्सव में मुख्य अतिथि के रूप में प्रतिभाग किया
  • मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने “अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद“ के अध्यक्ष श्री महंत नरेन्द्र गिरी के निधन पर शोक व्यक्त किया

सुशांत सिंह राजपूत मामले की महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने सीबीआई जांच से किया इंकार

मुंबई। सुशांत सिंह राजपूत केस की जांच के लिए जहां उनके फैंस के साथ बॉलीवुड कलाकार शेखर सुमन लगातार इस मामले में किसी साजिश की बात करते हुए मामले की सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं, वहीं सुशांत के निधन के एक महीने बाद उनकी गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती ने भी सोशल मीडिया पर भारत के गृह मंत्री अमित शाह से सीबीआई जांच की मांग की। मामले को लगातार बढ़ता देख अब इस मामले पर महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख का बयान सामने आया है। उन्होंने इस मामले में पुलिस जांच पर संतुष्टी जताई है। सुशांत केस में महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने हाल ही में कहा कि इस मामले में सीबीआई जांच की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि मुंबई पुलिस ऐसे मामलों को संभालने में सक्षम है, क्योंकि वे पेशेवर प्रतिद्वंद्विता सहित मामले के हर पहलू की जांच कर रहे हैं। उन्होंने आगे यह भी कहा कि अभी तक की जांच में किसी साजिश का खुलासा नहीं हुआ है और जांच पूरी होने के बाद पूरी डीटेल सामने रखी जाएंगी। बांद्रा पुलिस इस मामले को सुलझाने में लगी हुई है और लगातार उन लोगों से पूछताछ कर रही है, जो एक्टर से संपर्क में थे। पुलिस ने अब तक इस मामले में 35 से ज्यादा लोगों से पूछताछ कर ली हैं। सुशांत सिंह राजपूत ने 14 जून को मुंबई के बांद्रा स्थिति अपने अपार्टमेंट में फांसी लगाकर कथित रूप से आत्महत्या कर ली थी। शुरुआती जांच में पुलिस को कुछ भी संदिग्ध नहीं मिला है और पोस्टमॉर्टम की रिपोर्ट में भी सुशांत की मौत फांसी लगाकर होने से बताई गई।