Breaking News
  • मुख्यमंत्री ने उद्योग विभाग द्वारा आयोजित आजादी के अमृत महोत्सव के अवसर पर वाणिज्य उत्सव में मुख्य अतिथि के रूप में प्रतिभाग किया
  • मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने “अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद“ के अध्यक्ष श्री महंत नरेन्द्र गिरी के निधन पर शोक व्यक्त किया
  • मुख्यमंत्री ने राजपुर रोड स्थित होटल में आयोजित सम्मान समारोह में कोरोना योद्धाओं को प्रशस्ति पत्र एवं स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया
  • मुख्यमंत्री ने किया मसूरी विधानसभा क्षेत्र की 70 करोड़ रूपये की योजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास
  • मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने ऋषिकेश में जन आशीर्वाद रैली में प्रतिभाग किया, इस अवसर पर उन्होंने 12 घोषणा की

मंत्री रेखा आर्य ने की महिला कल्याण योजनाओं की समीक्षा

देहरादून, न्यूज़ आई। प्रदेश की महिला कल्याण एवं बाल विकास विभाग राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रेखा आर्या ने विधान सभा स्थित सभाकक्ष में राज्य के सभी जनपदों के जिला प्रोबेशन अधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग, जूम एप के माध्यम से केन्द्र एवं राज्य पोषित महिला कल्याण विभाग द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं की समीक्षा बैठक की। उन्होंने कहा की महिला कल्याण विभाग द्वारा समाज की ऐसी महिलाओं, बालिकाओं और बालकों के बारे में जो समाज की मुख्यधारा में नहीं जुड़ पाये हैं, उन सबके सम्बन्ध में विशेष संवेदनशीलता दिखाई जाय। निराश्रित एवं अनाथ महिला एवं बच्चों के सम्बन्ध में चलाई जाने वाली योजनाओं की जानकारी का व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाय।
बैठक में कोरोना काल के दौरान विभाग द्वारा संचालित गतिविधियों की भी समीक्षा की गयी। विभिन्न जनपदों द्वारा सैनिटाईजिंग, फागिंग एवं दवाओं का छिड़काव, मास्क बनाने का कार्य एवं आईसोलेशन वार्ड बनाये जाने की, इसके अतिरिक्त कोविड के रोकथाम के लिए योगा कार्यक्रम की जानकारी दी गयी। स्टाफ एवं सहवासनियों को कोविड बचाव का विशेष प्रशिक्षण दिया जा रहा है।
राजकीय शिशु सदन, बालगृह इत्यादि स्थलों पर स्टाफ की ट्रेनिंग में संवेदनशीलता के विकास के लिए क्षमता विकास कार्यक्रम प्रशिक्षण के सम्बन्ध में भी निर्देश दिया गया। भावनाओं को जागृत करने के सम्बन्ध में बच्चों में किस प्रकार सकारात्मक परिवर्तन किया जा सकता है, इसके सम्बन्ध में संवेदनशीलता एवं मनोवैज्ञानिक प्रभाव की जानकारी प्राप्त करने के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाये जाने की सम्भावनाओं पर विचार किया। अनाथ बच्चों के लिए जनपदों में प्रायोजित प्रोग्राम की समीक्षा की गयी, 90 से 60 बच्चों के लिए प्रायोजित प्रोग्राम में पिथौरागढ़ बागेश्वर एवं अल्मोड़ा ने बेहतरीन प्रदर्शन किया है, लेकिन उत्तरकाशी एवं हरिद्वार के संतोषजनक प्रगति न प्राप्त होने पर 40 बच्चों का लक्ष्य दिया गया है। इस अवसर पर सचिव महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास, सौजन्या, अपर सचिवध्निदेशक, मेजर योगेन्द्र यादव, सी.पी.ओ मोहित चौधरी, जिला प्रोबेशन अधिकारी अंजना गुप्ता एवं कार्यक्रम अधिकारी विक्रम लाल नखोलिया आदि अधिकारी मौजूद थे।