Breaking News
  • मुख्यमंत्री ने उद्योग विभाग द्वारा आयोजित आजादी के अमृत महोत्सव के अवसर पर वाणिज्य उत्सव में मुख्य अतिथि के रूप में प्रतिभाग किया
  • मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने “अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद“ के अध्यक्ष श्री महंत नरेन्द्र गिरी के निधन पर शोक व्यक्त किया
  • मुख्यमंत्री ने राजपुर रोड स्थित होटल में आयोजित सम्मान समारोह में कोरोना योद्धाओं को प्रशस्ति पत्र एवं स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया
  • मुख्यमंत्री ने किया मसूरी विधानसभा क्षेत्र की 70 करोड़ रूपये की योजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास
  • मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने ऋषिकेश में जन आशीर्वाद रैली में प्रतिभाग किया, इस अवसर पर उन्होंने 12 घोषणा की

नई शिक्षा नीति भारत के भविष्य को संवारने में मददगार होगीः मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र

देहरादून, न्यूज़ आई। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने देश में 28 साल बाद नई शिक्षा नीति लाने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल निशंक को बधाई देते हुए कहा कि नई शिक्षा नीति भारत के भविष्य को संवारने में मददगार होगी। इसमें शिक्षा पर जीडीपी का 6 प्रतिशत खर्च करने और कक्षा पांच तक मातृभाषा में शिक्षा देने की बात कही गई है। पारम्परिक मूल्यों का समावेश करते हुए नई शिक्षा नीति को आने वाले समय की चुनौतियों के अनुरूप बनाया गया है।
मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने प्रदेश में डिफेंस प्रोडक्शन पॉलिसी के तहत डिफेंस से सम्बन्धित उपकरणों के उत्पादन की संभावनायें तलाशे जाने के निर्देश सम्बन्धित अधिकारियों को दिये हैं। मुख्यमंत्री ने डिफेंस से सम्बन्धित उपकरणों के प्रोडक्शन हेतु इस क्षेत्र की फर्मों को प्रदेश में अनुकूल माहौल उपलब्ध कराने के साथ ही डिफेन्स प्रोडक्शन पार्क की स्थापना के सम्बंध में भी कार्य योजना बनाये जाने की बात कही। मुख्यमंत्री ने बुधवार को सचिवालय में इस सम्बंध में औद्योगिक सलाहकार के.एस. पंवार, अपर मुख्य सचिव मनीषा पंवार, सचिव वित्त अमित नेगी एवं एम.डी सिडकुल एस.ए मुरूगेशन के साथ विचार विमर्श किया। इस अवसर पर उत्तराखण्ड डिफेंस मैनुफैक्चरर्स एसोसिएशन के तत्वाधान में डिफेंस सहित पब्लिक सेक्टर के विभिन्न क्षेत्रों में बिजनेस डेवलपमेंट से सम्बन्धित कार्य करने वाली फर्म केवीआर सॉल्यूसन के कर्नल एस कौशल द्वारा प्रदेश में इसकी सम्भावनाओं पर प्रस्तुतीकरण भी दिया गया। मुख्यमंत्री ने सम्बन्धित अधिकारियों से राज्य हित में इस सम्बंध में प्रभावी कार्यवाही के भी निर्देश दिये हैं।