Breaking News
  • अंतिम पंक्ति पर खड़े लोगों तक सरकार की योजनाओं को पहुंचाने के प्रयास किये जा रहे हैं: सीएम पुष्कर सिंह धामी
  • मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार द्वारा प्रदेश के समग्र विकास के लिए हरसंभव प्रयास किये जा रहे हैं
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सर्वे चौक स्थित आईआरडीटी सभागार में उत्तराखण्ड जन विकास समिति के ‘‘पहल 2021’’ अधिवेशन का शुभारम्भ किया
  • मुख्यमंत्री ने कहा कि जल्द ही मैत्रैयी नाम से छात्राओं के लिए मेंटरशिप कार्यक्रम प्रारंभ किया जाएगा इसके लिए एक पोर्टल भी विकसित किया जा रहा है
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने टाॅप करने वाली मेधावी बालिकाओं को स्मार्ट फोन वितरित किये

प्रदेश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 1000 के पार पहुंची

देहरादून, न्यूज़ आई। राज्य में कोरोना के 85 नए मरीज मिलने से मरीजों का आंकड़ा 1043 पहुंच गया। मंगलवार को सबसे अधिक 37 मरीज देहरादून जिले में मिले। जबकि नैनीताल में 22, टिहरी जिले में भी कोरोना के 14 नए मरीज मिले हैं। 30 मरीज ठीक होकर अस्पतालों से डिस्चार्ज भी किए गए हैं। मंगलवार को लैब से कुल 978 सैंपल की रिपोर्ट आई, जिसमें से 85 पॉजिटिव जबकि 893 नेगेटिव पाए गए हैं।
पॉजिटिव आए मरीजों में से 37 अकेले देहरादून जिले से हैं। इनमें कुछ प्रवासी हैं जबकि एक शब्जी मंडी में पॉजिटिव पाए गए मरीज का कांट्रेक्ट है। इसके अलावा टिहरी जिले में मुंबई से लौटे 14 प्रवासी, चमोली में पुणे और मुंबई से लौटे पांच मरीज और हरिद्वार में मुंबई से लौटे एक मरीज में कोरोना की पुष्टि हुई है।
जबकि पौड़ी में 3, रुद्रप्रयाग 2, मरीज मिले हैं। मंगलवार को राज्य के अस्पतालों से कुल 1268 मरीजों के सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। इसमें से सबसे अधिक 370 सैंपल हरिद्वार जिले के हैं। जबकि टिहरी से 208, पौड़ी से 132, देहरादून से 128 सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। राज्य में अभी तक कुल 33081 सैंपलों को जांच के लिए भेजा गया है। जिसमें से 24262 सैंपलों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। जबकि 1043 मरीज पॉजिटिव पाए गए हैं। हल्द्वानी मेडिकल कॉलेज में भर्ती एक कोरोना पॉजिटिव मरीज की सोमवार देर रात को मौत हो गई। इसके साथ ही राज्य में कोरोना पीड़ितों की मौत का कुल आंकड़ा 7 हो गया है। हालांकि राज्य सरकार के हेल्थ बुलेटिन के अनुसार मरीज की मौत कार्डियो रेस्पोरेट्री अरेस्ट की वजह से हुई है। राज्य में अभी तक हुई सात मरीजों की मौत को सरकार ने कोरोना से मौत नहीं माना है।
राज्य की लैब से 6863 सैंपल की रिपोर्ट आना अभी बाकी है। सैंपलों की वेटिंग बढ़ने से मरीजों को लम्बे समय तक जांच रिपोर्ट का इंतजार करना पड़ रहा है। इसके साथ ही इससे क्वारंटीन सेंटरों पर भी दबाव बढ़ रहा है। सरकार तमाम प्रयासों के बावजूद भी सैंपलिंग बढ़ा नहीं पा रही है। सबसे अधिक तीन हजार के करीब सैंपल हरिद्वार जिले के पेंडिंग हैं। इसके अलावा टिहरी के 1346 सैंपलों की रिपोर्ट आना अभी बाकी है।