Breaking News
  • मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने ऋषिकेश में जन आशीर्वाद रैली में प्रतिभाग किया, इस अवसर पर उन्होंने 12 घोषणा की
  • प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व मे भारत को विकसित राष्ट्र बनाने का सपना भी साकार हो रहा है: सीएम धामी
  • मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन और केंद्र सरकार के सहयोग से उत्तराखण्ड में विकास के नये आयाम स्थापित हुए हैं
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को उनके जन्मदिन की हार्दिक बधाई दी
  • मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने विश्वकर्मा जयंती के अवसर पर प्रदेशवासियों को बधाई एवं शुभकामनाएं दी

सुशांत सिंह डिप्रेशन की बीमारी से जूझ रहे थे !

मुंबई पुलिस ने सोमवार को सुशांत की मौत को उनकी मानसिक स्थिति को संबंधित कदम बताया था. पुलिस ने बताया था कि वह डिप्रेशन की बीमारी से जूझ रहे थे. मुंबई पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि पुलिस टीम उनके घर पर जांच के लिए गई थी और वहां डिप्रेशन का उपचार करने वाली कुछ दवाइयां पाई गई थीं. वहां कोई सुसाइड नोट नहीं मिला था.
सुशांत सिंह मुंबई के हिंदुजा अस्पताल में अपनी मानसिक बीमारी का इलाज करवा रहे थे. हालांकि पुलिस ने अभी तक सुशांत सिंह के ईलाज करने वाले डॉक्टर से बात नहीं की है. इस बीच, सुशांत सिंह रिपोर्ट की पोस्टमार्टम की प्रोविजनल रिपोर्ट सामने आई है, जिसमें कहा गया है कि फांसी की वजह से दम घुटने से हुई है. मुंबई में कूपर मुंसिपल जनरल हॉस्पिटल के डॉ. आरएन के निरीक्षण में पोस्ट-मार्टम किया गया है.
मुंबई पुलिस डिप्टी कमिश्नर अभिषेक त्रिमुखे ने सोमवार को बताया था, ‘प्रोविजनल पोस्ट-मार्टम रिपोर्ट डॉक्टर ने बांद्रा पुलिस स्टेशन में जमा करवाई थी. तीन डॉक्टर्स की एक टीम ने सुशांत सिंह राजपूत की ऑटोप्सी की थी. इस प्रोविजनल रिपोर्ट में सुशांत की मौत की वजह में फांसी के कारण दम घुटने को बताया गया है.’