Breaking News
  • अंतिम पंक्ति पर खड़े लोगों तक सरकार की योजनाओं को पहुंचाने के प्रयास किये जा रहे हैं: सीएम पुष्कर सिंह धामी
  • मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार द्वारा प्रदेश के समग्र विकास के लिए हरसंभव प्रयास किये जा रहे हैं
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सर्वे चौक स्थित आईआरडीटी सभागार में उत्तराखण्ड जन विकास समिति के ‘‘पहल 2021’’ अधिवेशन का शुभारम्भ किया
  • मुख्यमंत्री ने कहा कि जल्द ही मैत्रैयी नाम से छात्राओं के लिए मेंटरशिप कार्यक्रम प्रारंभ किया जाएगा इसके लिए एक पोर्टल भी विकसित किया जा रहा है
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने टाॅप करने वाली मेधावी बालिकाओं को स्मार्ट फोन वितरित किये

प्रदेश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 6500 पार पहुंचा

देहरादून, आजखबर। राज्य में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। मंगलवार को प्रदेश में 259 कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं। इसके साथ ही कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 6500 पार पहुंच गया है। वहीं, आज 45 मरीज ठीक होकर घर लौटे हैं। लेकिन अभी भी 2759 एक्टिव केस हैं। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार, आज सबसे ज्यादा 108 मामले ऊधमसिंह नगर में सामने आए हैं। वहीं, देहरादून में 33, नैनीताल में 45, हरिद्वार में 42 मामले आए हैं। अल्मोड़ा में 10, बागेश्वर में एक, चमोली में दो, चंपावत में पांच, टिहरी में 13 संक्रमित मरीज मिले हैं।
प्रदेश में अब तक 70 कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत हो चुकी है। जबकि 3720 संक्रमित मरीज ठीक होकर घर लौट चुके हैं। प्रदेश में संक्रमित मरीजों की रिकवरी दर 56.47 हो गई है। वहीं, डबलिंग दर 24.25 दिन रह गई है। उत्तराखंड में सैंपल जांच की दर राष्ट्रीय औसत से सात प्रतिशत कम है। प्रदेश में प्रति लाख आबादी पर 1188 सैंपल जांच किए जा रहे हैं। हरिद्वार जिले की आबादी सबसे अधिक होने के बाद भी सैंपल जांच अन्य जिलों की तुलना में सबसे कम है। हरिद्वार में सैंपल जांच की दर प्रति एक लाख पर 795 सैंपल है। कोरोना संक्रमण रोकने के लिए प्रदेश सरकार ने जिलों को कोविड सैंपलों की जांच क्षमता बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। हालांकि पहले की तुलना में प्रदेश में सैंपल जांच बढ़ी है। इसके बावजूद भी प्रदेश में सैंपलिंग की दर राष्ट्रीय औसत से सात प्रतिशत कम है। प्रदेश में प्रति एक लाख की आबादी पर 1188 सैंपलों की जांच की जा रही है। जबकि राष्ट्रीय स्तर पर यह दर प्रति लाख पर 1284 सैंपल है। आबादी के आधार पर सैंपल जांच में चंपावत जिला प्रदेश में पहले स्थान पर है। यहां प्रति लाख पर 2017 सैंपल टेस्ट किए जा रहे हैं। उत्तरकाशी दूसरे और रुद्रप्रयाग जिला तीसरे स्थान पर है। वर्तमान में हरिद्वार जिला कोरोना संक्रमण को लेकर हॉट स्पाट बना है। हरिद्वार जिले की आबादी अन्य जिलों से अधिक होने के बाद भी यहां सैंपल जांच की दर सबसे कम है।