Breaking News
  •  मुख्य सचिव डॉ. एस. एस. संधु ने प्रदेश के सभी कार्मिकों की एसीआर ऑनलाइन किए जाने के सम्बन्ध में निर्देश दिए
  • मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्वोत्तर राज्यों और देवभूमि उत्तराखण्ड के बीच प्राचीन काल से ही एक अनूठा संबंध रहा
  • मुख्यमंत्री ने कहा कि नार्थ ईस्ट के साथ उत्तराखण्ड की कई मामलों में समानता है
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि युवा उद्यमियों द्वारा कृषि-स्टार्टअप को प्रोत्साहित करने के लिए कृषि कोष बनाया जाएगा
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने ने बजट को बताया शानदार

उत्तराखंड सरकार लगातार भारत सरकार और विदेश मंत्रालय के संपर्क में

देहरादून, न्यूज़ आई । यूक्रेन और रूस के बीच पिछले पांच दिनों से भीषण युद्ध चल रहा है। जिसके चलते यूक्रेन में फंसे भारतीय छात्र-छात्राओं का स्वदेश लौटने का सिलसिला जारी है। इसमें अधिकांश यूक्रेन में मेडिकल की पढ़ाई कर रहे छात्र छात्राएं हैं। जिसमें उत्तराखंड के रहने वाले भी कई युवक-युवतियां हैं। उत्तराखंड के सात छात्र-छात्राएं सोमवार को सकुशल स्वदेश लौटी हैं। जो छात्र यूक्रेन से वापस लौटे हैं उनके नाम  तमन्ना त्यागी, प्रेरणा बिष्ट, शिवानी जोशी, लिपाक्षी, अताउल्लाह मलिक, मोहम्मद मुकराम और उर्वशी जंटवाल बताए जा रहे है।
यूक्रेन में फंसे भारतीय छात्रों को भारत सरकार रोमानिया के रास्ते से निकाल रही है। बीते दिन उत्तराखंड शासन ने अपने नागरिकों की सूची विदेश मंत्रालय को भेजी थी। उत्तराखंड सरकार लगातार भारत सरकार और विदेश मंत्रालय के संपर्क में हैं। वहीं सोमवार को उत्तराखंड के सात छात्र सकुशल भारत लौटे हैं। वहीं सात छात्र-छात्राओं का स्वागत अपर रेजिडेंट कमिश्नर अजय मिश्रा और उनकी टीम ने किया। इस दौरान छात्र-छात्राओं ने यूक्रेन के हालातों को बयां किया। रविवार को भी यूक्रेन में मेडिकल की पढ़ाई कर रही उत्तराखंड की 4 छात्राएं दिल्ली से जौलीग्रांट एयरपोर्ट पहुंची थीं।