Breaking News
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने पुलिस लाइन में प्रशासनिक भवन, क्वार्टर गार्द एवं बैरक का किया शिलान्यास
  • प्रदेशवासियों को जल्द ही ई-एफआईआर की सुविधा मिलेगी, इसमें घर बैठे ही एफआईआर दर्ज कराई जा सकेगी
  • आकाश अंबानी होंगे रिलायंस जियो इनफोकॉम के नए चेयरमैन
  • सीएम धामी ने पीएम मोदी से की भेंट, जीएसटी क्षतिपूर्ति की अवधि बढ़ाने का किया अनुरोध
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सैनिक स्कूल के लिए वित्तीय सहायता प्रदान किये जाने का किया रक्षा मंत्री से अनुरोध

विधायक के खिलाफ तहरीर देने वाले एसडीएम को शासन ने हटाया

देहरादून, न्यूज़ आई । बीजेपी विधायक पुरोला दुर्गेश्वर लाल के खिलाफ थाने में तहरीर देने वाले एसडीएम सोहन सिंह सैनी को शासन ने हटा दिया है। एसडीएम ने विधायक पर अभद्रता का आरोप लगाते हुए तहरीर दी थी। विवाद बढ़ने पर शासन ने रविवार का दिन होने के बावजूद एसडीएम को कमिश्नर गढ़वाल ऑफिस अटैच किए जाने के आदेश किए।
एसडीएम और विधायक के खिलाफ विवाद चल रहा था। एसडीएम ने विधायक पर जान से मारने की धमकी देने, छवि धूमिल करने, एससी, एसटी ऐक्ट में केस दर्ज कराने की धमकी देने का आरोप लगाया था। पुरोला बाजार में भी अभद्रता करने और समर्थकों के सोशल मीडिया पर छवि खराब करने का आरोप लगाया। विधायक, एसडीएम के बीच का ये विवाद शनिवार और रविवार को सोशल मीडिया पर छाया रहा। समर्थक एसडीएम के खिलाफ मोर्चा खोले रहे। एसडीएम के विधायक के खिलाफ ही तहरीर देने से खासी किरकिरी भी हुई। इस घटना को गंभीरता से लेते हुए शासन स्तर से डैमेज कंट्रोल के प्रयास शुरू हुए। दोपहर बाद कार्मिक विभाग की ओर से एसडीएम को हटाने के आदेश जारी कर दिए गए। उन्हें किसी नई तहसील की जिम्मेदारी देने की बजाय सीधे कमिश्नर गढ़वाल कार्यालय पौड़ी से अटैच किया गया। एसडीएम का वेतन अब कमिश्नर पौड़ी कार्यालय से ही जारी होगा।