Breaking News
  • ऋषिकेश की चिला नहर से मिला अंकिता का शव, हत्याकांड की जांच करेगी एसआईटी, सीएम पुष्कर सिंह धामी ने दिये ये निर्देश
  • आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत मुख्यमंत्री ने विभिन्न चिकित्सालयों, चिकित्सकों एवं आरोग्य मित्र आदि को किया सम्मानित
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने लघु उद्योग भारती द्वारा आयोजित उत्तराखण्ड उद्यमी व श्रमिक सम्मान समारोह में प्रतिभाग किया
  • उत्तराखण्ड लोक सेवा आयोग ने प्रथम चरण की परीक्षाओं का कैलेण्डर निर्धारित किया
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने केंद्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत की अध्यक्षता में किशाऊ बांध बहुद्देशीय परियोजना पर आयोजित बैठक में किया प्रतिभाग

उत्तराखण्ड के तीन छात्र यूक्रेन से सकुशल वापस लौटे

देहरादून, न्यूज़ आई। रूस-यूक्रेन युद्ध के चार दिन बाद भी भारतीय छात्रों की परेशानी कम नहीं हुई हैं। इसी बीच रविवार को उत्तराखंड के तीन छात्र सकुशल भारत लौटे हैं। वहीं सीएम पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि भारत सरकार के तमाम प्रयासों से छात्र सकुशल वापस आ रहे हैं। इनमें उत्तराखंड के तीन छात्र भी शामिल हैं। मैं पीएम मोदी और इससे जुड़े सभी अधिकारियों को धन्यवाद देता हूं, हम अन्य छात्रों के लिए निरंतर प्रयास कर रहे हैं जिन्हें अभी वापस लाया जाना हैं।
पहली लिस्ट में 86 नागरिकों की सूचना थी, तो उसके बाद यह बढ़कर 154 हुई और अभी तक आंकड़े 226 पहुंच गया है। यूक्रेन में फंसे उत्तराखंड के देहरादून के 55, हरिद्वार के 41, टिहरी के 17, पौड़ी के 21, चमोली के 4, उत्तरकाशी के 7, रुद्रप्रयाग के 5, नैनीताल के 24, उधमसिंहनगर के 38, अल्मोड़ा के 1, चम्पावत के 5, पिथौरागढ़ के 3 और अन्य पांच नागरिक यूक्रेन में फंसे हैं। यूक्रेन से लौटे उत्तराखंड के तीन छात्रों आशुतोष पाल, अदनान व खुशी सिंह का नई दिल्ली में उत्तराखंड के अपर स्थानिक आयुक्त अजय मिश्रा ने स्वागत किया। इस अवसर पर छात्रों के अभिभावक और राज्य के सहायक प्रोटोकॉल अधिकारी मनोज जोशी व दीपक चमोली भी उपस्थित रहे। उत्तराखंड सरकार यूक्रेन में निवासरत उत्तराखंड के सभी छात्रों की सुरक्षित वापसी के लिये भारत सरकार के लगातार सम्पर्क में हैं। वहीं यूक्रेन में रह रहे काशीपुर के भाई बहन अलग-अलग स्थानों से सफर करते हुए ल्विव पहुंच गए हैं। अब वह आगे का सफर साथ में तय करके रोमानिया बॉर्डर पर पहुंचेंगे, जहां से भारतीय विमानों के द्वारा वह स्वदेश वापसी करेंगे।