Breaking News
  • सीएम धामी ने पीएम मोदी से की भेंट, जीएसटी क्षतिपूर्ति की अवधि बढ़ाने का किया अनुरोध
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सैनिक स्कूल के लिए वित्तीय सहायता प्रदान किये जाने का किया रक्षा मंत्री से अनुरोध
  • सीएम धामी ने पीएम मोदी से की भेंट, जीएसटी क्षतिपूर्ति की अवधि बढ़ाने का किया अनुरोध
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने नई दिल्ली में केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से शिष्टाचार भेंट की।
  • मुख्यमंत्री उत्तराखंड सरकार पुष्कर सिंह धामी द्वारा अवैध खनन पर कड़ी कार्रवाई करने के दिए गए निर्देश

शहीदों के परिजनों को आप की सरकार देगी एक करोड़ की सहायता राशिः केजरीवाल

देहरादून, न्यूज़ आई: दिल्ली के मुख्यमंत्री और आप के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल आज अपने छठवें उत्तराखंड दौरे पर देहरादून पहुंचे जहां जौलीग्रांट एयरपोर्ट पहुंचने पर आप सीएम प्रत्याशी कर्नल कोठियाल ,आप प्रदेश प्रभारी दिनेश मोहनिया समेत पार्टी पदाधिकारियों ने उनका जोरदार स्वागत किया। यहां से वो सीधे बीजापुर गेस्ट हाउस पहुंचे जहां उन्होंने पार्टी के पदाधिकारियों के साथ महत्वपूर्ण चर्चा की और वहां से लगभग 3 बजे वो परेड ग्राउंड स्थित नवपरिवर्तन सभा रैली स्थल पर पहुंचे जहां हजारों आप कार्यकर्ता और स्थानीय लोग उनका बेसब्री से इंतजार करते नजर आए। इस रैली में कई भूतपूर्व सैनिक समेत,महिलाएं और युवा भी उनकी रैली में मौजूद रहे।
बेसब्री से अपने नेता का इंतजार कर रही जनता ने अरविंद केजरीवाल के मंच पर पहुंचते ही,हाथ उठा कर और केजरीवाल के नारे लगा कर उनका अभिवादन किया। मंच पर पहुंचते ही अरविंद केजरीवाल जी का आप कैंपेन कमेटी अध्यक्ष दीपक बाली,उपाध्यक्ष शिशुपाल रावत, ने स्वागत किया तो कार्यकारी अध्यक्ष प्रेम सिंह ने आप प्रभारी का स्वागत किया। इस बीच शिशुपाल रावत जी ने कर्नल कोठियाल का स्वागत किया। इसके बाद हवलदार दीन दयाल सिंह, हवलदार बीर सिंह,कैन्टेन पान सिंह,हाॅनेरी कैप्टेन चतर सिंह,हाॅनेरी कैप्टेन जगमोहन सिंह को अरविंद केजरीवाल जी द्वारा उनके शौर्य के लिए सम्मानित किया गया। इसके अलावा संबोधन से पहले महिला पदाधिकारियों द्वारा अरविंद जी को स्मृति चिन्ह भेंट किया गया।
इसके बाद त्रिलोक सिंह की पार्टी, पहाडी पार्टी का आप पार्टी में अरविंद के नेतृत्व में विलय हुआ, जिसका सभी ने स्वागत किया। आप की नीतियों को देखते हुए पहाड़ी पार्टी के अध्यक्ष त्रिलोक सिंह ने अपनी पार्टी का विलय आप पार्टी में किया। इस दौरान कर्नल कोठियाल ने मंच पर पहुंचकर, जनता को संबोधित किया और कहा कि जब जब अरविंद जी उत्तराखंड आते हैं, तो यहां की जनता को एक उम्मीद दिखती है। उन्होंने कहा कि जब मैं अबकी बार लोगों के बीच गया ,तो उन्होंने कहा कि अरविंद जी को हमारी तरफ से शुभकामनाएं देना और आज उसी जनता की ओर से मैं अरविंद जी का स्वागत करता हूं। उन्होंने कहा कि, अरविंद जी द्वारा जो गांरटी आजतक दी गई हैं, उन सभी गारंटी से प्रदेश की जनता बहुत खुश है और पहाडों में लोग इससे बहुत खुश हैं और आप पार्टी की नीतियों को लोगों ने समझना शुरु कर दिया है।उन्हेांने कहा कि अरविंद जी उत्तराखंड के लिए एक उम्मीद हैं ,और इसके बाद उन्हेांने अरविंद जी को संबोधन के लिए आमंत्रित किया।
अरविंद ने भारत माता ,इंकलाव जिंदाबाद, और वंदे मातरम के जयकारे के साथ अपना संबोधन शुरु किया। उन्होंने इस रैली में पहुंचने पर सभी का धन्यवाद अदा करते हुए कहा, देवभूमि देशभक्तों की भूमि है यहां कण कण में देवताओं का वास है। उन्होंने कहा कि ये हर्ष का विषय है कि, भारतीय सेना मे अधिकाशं युवा उत्तराखंड से जाते हैं ,जो गर्व का विषय है और यहां के कई लाल देश पर शहीद हो गए जिससे सभी को गर्व महसूस होता है। उन्होंने आगे कहा कि जब हम एनजीओ चलाते थे और ऐसे शहीदों के बारे में सुनते थे ,तो बहुत बुरा लगता था क्योंकि उन शहीदों के परिजनों की सुनने वाला कोई नहीं होता। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार पुलिस कर्मियों की शहादत पर ,सेना का जवान अगर कोई शहीद होता है तो उसके परिवार को सम्मान पूर्वक एक करोड की राशि देती है। उन्होंने मंच से बड़ी घोषणा करते हुए कहा कि,दिल्ली में शहीदों के परिजनों को हमने अपने हाथों से ये चैक बांटे और उत्तराखंड में भी आप की सरकार बनते ही सेना,पुलिस और पैरामिलिट्री में शहीद हुए सैनिकों के परिजनों को एक करोड़ रुपए देंगे। उन्होंने कहा,दिल्ली की तर्ज पर यहां भी सरकार बनने पर हम शहीदों के परिजनों को सम्मान राशि 1 करोड़ देंगे।
कहा कि एक सैनिक साढे सत्रह साल की उम्र में सेना में भर्ती होता है और 17 साल में रिटायर हो जाता है । उसके पास कितना ज्यादा एक्सपीरियंस होता है ,लेकिन रिटायर होने के बाद उसे नौकरी नहीं मिल पाती। उन्होंने कहा कि जो भी जवान रिटायर होगा उसे रिटायर होने पर उसे राज्य सरकार में सरकारी नौकरी में आरक्षण मिलेगा । ताकि वो अपने देशभक्ति का इनाम पाकर राज्य के नवनिर्माण में अपना सहयोग कर सकें।
उन्होंने,कहा कि यहां के कई लोग फौज में हैं या उनके रिश्तेदार हैं। उन्होंने कहा कि सभी एक्स आर्मी लोगों को और सेना के जवानों को मैं कहना चाहता हूं कि आप सब मिलकर राज्य का नवनिर्माण करें। उन्होंने कहा कि अगर एक सैनिक ने सोच लिया कि राज्य का पुननिर्माण होना है तो वो होकर रहेगा। इसके बाद उन्होंने वहां मौजूद जनता से कहा, आपने कांग्रेस बीजेपी दोनों पर भरोसा करके देख लिया, लेकिन अबकी बार आप एक मौका हमें दो तो हम उत्तराखंड का नवनिर्माण करेंगे। इसके बाद उन्होंने अपना संबोधन खत्म किया और जनता का अभिवादन स्वीकार करते हुए वो दिल्ली के लिए रवाना हो गए।