Breaking News
  • मुख्यमंत्री ने ऋषिकेश पहुंचकर चारधाम यात्रा रजिस्ट्रेशन कार्यालय का किया स्थलीय निरीक्षण
  • मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार पहली बार राज्य सरकार की ओर से जवानों का कराया गया है 10 लाख रुपये तक का बीमा, राशन भी कराया जा रहा उपलब्ध
  • केदारनाथ धाम यात्रा मार्ग में अपने कार्यों से यात्रियों का दिल जीत रहे पीआरडी जवान
  • तीर्थाटन और पर्यटन मार्गों पर पार्किंग और मूलभूत सुविधाओं की समुचित व्यवस्था की जाए।
  • श्रद्धालुओं को सभी सुविधाएं एक ही प्लेटफार्म पर उपलब्ध करायेगा ‘यात्रा समाधान’ मोबाइल एप्लीकेशन

मुख्यमंत्री ने हिल-मेल फाउंडेशन की ’ससम्मान राहत सेवा’ को दिखाई हरी झंडी

देहरादून, न्यूज़ आई: मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने मंगलवार को बीजापुर अतिथि गृह में कोरोना संक्रमण काल में गरीब लोगों तक राहत पहुंचाने के मिशन में जुटे हिल-मेल फाउंडेशन की ’ससम्मान राहत सेवा’ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। गढ़वाल और कुमाऊं के लिए इस राहत सेवा के माध्यम से 325 राशन किट, कई लीटर सैनिटाइजर, 120 पीपीई किट और 1600 मास्क भेजे गये हैं।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कहा कि पिछले डेढ़-दो माह में राज्य की स्वास्थ्य सुविधाओं को कई गुना बेहतर बनाया गया है। अब राज्य में ऑक्सीजन, वेंटिलेटर आईसीयू और ऑक्सीजन बेड की पर्याप्त उपलब्धता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा कोरोना महामारी की रोकथाम के लिये किये गये कारगर प्रयासों का ही परिणाम है कि राज्य में अब इसका प्रभाव कम होने लगा है। उन्होंने हिल मेल फाउण्डेशन के प्रयासों की भी सराहना की।
हिल मेल फाउण्डेशन की संस्थापक सुश्री चेतना नेगी ने बताया कि उनके द्वारा पौड़ी जिले के यमकेश्वर, पौड़ी और कलजीखाल ब्लॉक में गरीब परिवारों के लिए देहरादून से 100 राशन किट्स, 120 पीपीई किट्स, कई लीटर रिफिल सैनिटाइजर, टेबल सैनिटाइजर, पॉकेट सैनिटाइजर और 1000 मास्क भेजे गए हैं। हिल-मेल फाउंडेशन दीर्घायु जीवन अमृत फाउंडेशन के सहयोग से बागेश्वर जिले के लिए भी 75 राशन किट, 250 सैनिटाइजर, 600 मास्क भेज रहा है।
हिल-मेल फाउंडेशन ने अब तक 500 कोविड मेडिसिन किट (15 दिन का संपूर्ण कोर्स), 500 पॉकेट सैनिटाइजर, 2000 मास्क और 150 पीपीई किट वितरित की हैं। इसके साथ ही हिल-मेल फाउंडेशन ने पौड़ी के विभिन्न हिस्सों में लोगों को कोरोना संक्रमण से जुड़े प्रोटोकॉल को लेकर जागरुकता अभियान भी चलाया गया है।
इस अवसर पर शिक्षा मंत्री अरविन्द पाण्डेय भी उपस्थित थे।