Breaking News
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने काव्य संग्रह ’रमणी जौनसार ’ एवं ’जौनसार बावर के जननायक पं. शिवराम’  पुस्तक का विमोचन किया
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने किया बोधिसत्व विचार श्रृंखला ‘बिन पानी सब सून’ संगोष्ठी को सम्बोधित
  • प्रदेश के खिलाड़ी आज विश्व पटल पर राज्य एवं देश का नाम रोशन कर रहे: मुख्यमंत्री
  •  मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने उत्तरांचल राज्य बैडमिंटन एसोसिएशन द्वारा आयोजित ’उत्तराखण्ड राज्य सीनियर बैडमिंटन प्रतियोगिता’ का शुभारंभ किया
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मुख्यमंत्री आवास स्थित मुख्य सेवक सदन में डैटोल स्कूल हाइजीन एजुकेशन प्रोग्राम उत्तराखण्ड का किया शुभारंभ

मुख्यमंत्री पुष्कर धामी ने वृक्षमित्र डॉ सोनी को अंतर्राष्ट्रीय एक्सीलेंस एवार्ड से किया सम्मानित

देहरादून, न्यूज़ आई। पर्यावरण संरक्षण के क्षेत्र में 1998 से लगातार कार्य कर रहे पर्यावरणविद् वृक्षमित्र डॉ त्रिलोक चंद्र सोनी को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अंतर्राष्ट्रीय एक्सीलेंस एवार्ड 2021 से सम्मानित किया। इंटिलियो वैलफेयर फाउंडेशन(आईएनटी) पांच देशों का संगठन हैं जिसमे आस्ट्रेलिया, जापान, कनाडा, भारत व फीजी देश हैं इन देशों के ज्यूरी पैनल ने उत्तराखंड से डॉ त्रिलोक चंद्र सोनी को चयनित कर यह सम्मान दिया है।
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा वृक्षमित्र डॉ त्रिलोक चंद्र सोनी ने अंतरराष्ट्रीय एक्सीलेंस एवार्ड प्राप्त कर उत्तराखंड का नाम पर्यावरण संरक्षण के क्षेत्र में अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर रोशन किया है इस सम्मान के लिए उन्हें बहुत बहुत बधाई के साथ ढेरो शुभकामनाएं हैं। आईएनटी ग्रुप ऑस्ट्रेलिया के अध्यक्ष भुवन भट्ट ने अंतरराष्ट्रीय सम्मान मिलने पर बधाई दी।
बताते चले कि डॉ त्रिलोक चंद्र सोनी पेशे से अध्यापक हैं जो जनपद टिहरी गढ़वाल के मरोड़ा (सकलाना) में प्रवक्ता भूगोल के पद पर कार्यरत हैं और मूलतः जनपद चमोली के विकासखंड देवाल ग्राम पूर्णा के रहने वाले है ग्रामीण परिवेश में पले डॉ सोनी की शिक्षा दीक्षा गांव में हुई हैं और वर्तमान में भी वे पर्वतीय क्षेत्र के ग्रामीण परिवेश में हैं 1998 से पर्यावरण की अलख की लौ जलाये आज अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहुंचा चुके है डॉ सोनी स्वयं अपने खर्चे से छः सो से अधिक कार्यक्रम कर चुके है और दस हजार से अधिक लोगो को पौधा उपहार में भेंट कर चुके है उनका का कहना है खुशनुमा जीवन तभी हो सकता हैं जब हम प्रकृति की सेवा करेंगे इसलिए मेरा पेड़-मेरा दोस्त(मेरा वृक्ष-मेरा मित्र) के तहत एक एक पौधा लगाकर धरती का सृगार बनाने में अपना योगदान देवे तथा पुष्कर सिंह धामी को उत्तराखंड के मुख्यमंत्री बनने पर औषधीय तेजपात का पौधा उपहार में देकर बधाई दी।