Breaking News
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि चुनाव से पहले प्रदेश की जनता से किए गए वादों के अनुरूप काम कर रही है सरकार
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि लोकतंत्र के लिए पत्रकारिता एक महत्वपूर्ण स्तंभ
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने नैनीताल क्लब में आम जनता की समस्याओं को सुना
  • सासंद राज्य सभा उत्तराखंड नरेश बंसल ने भगवान बद्री विशाल के दर्शन किए
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से शुक्रवार को मुख्यमंत्री आवास में उ0प्र0 के मत्स्य पालन मंत्री  संजय निषाद ने भेंट की

मुख्य सचिव ने कोविड की सम्भावित तीसरी लहर की तैयारियों के सम्बन्ध में ली बैठक

देहरादून, न्यूज़ आई: मुख्य सचिव ओमप्रकाश ने गुरुवार को सचिवालय में कोविड की सम्भावित तीसरी लहर हेतु तैयारियों के सम्बन्ध में बैठक ली। मुख्य सचिव ने कहा कि कोविड की अगली लहर हेतु सभी तैयारियां समय रहते पूर्ण कर ली जाएं। मुख्य सचिव ने अधिकारियों को सख्त निर्देश देते हुए कहा कि प्रदेश में कोविड केसों में कमी आने के बावजूद टेस्टिंग को किसी भी हाल में कम न किया जाए। उन्होंने 40 हजार टेस्ट प्रतिदिन का टारगेट पूरा किये जाने के निर्देश दिए।
मुख्य सचिव ने कोविड की अगली लहर के लिए पूर्ण तैयारियां करते हुए क्लीनिकल प्रोटोकोल के अनुसार बाल चिकित्सकों एवं नर्सों का कोविड केयर के सम्बन्ध में प्रशिक्षण करा लिए जाने के निर्देश भी दिए। उन्होंने सम्भावनाओं के अनुरूप अगली लहर के लिए चिकित्सालयों में बच्चों के ऑक्सीजन मास्क एवं मेडिसिन आदि की समस्त व्यवस्थाओं की तैयारी हेतु 30 जून तक प्लान तैयार करने के निर्देश दिए।
मुख्य सचिव ने कहा कि प्रदेश में ऑक्सीजन की उपलब्धता में काफी सुधार हुआ है, आने वाले समय में और अधिक ऑक्सीजन प्लान्ट्स राज्य में स्थापित हो जाएंगे। उन्होंने कहा कि पर्वतीय क्षेत्रों में मार्ग अवरूद्ध होने के कारण ऑक्सीजन के ट्रांसपोर्टेशन में समस्या आ सकती है, इसलिए प्रत्येक जनपद में ऑक्सीजन की स्टोरेज एवं ऑक्सीजन कन्सन्ट्रेटर पर अधिक फोकस किए जाने पर बल दिया। उन्होंने कहा कि इससे पर्वतीय क्षेत्रों में विषम परिस्थितियों में भी ऑक्सीजन की उपलब्धता बनी रहेगी।
इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव श्रीमती मनीषा पंवार, सचिव श्री अमित नेगी, श्री आर. मीनाक्षी सुन्दरम, डॉ. पंकज कुमार पाण्डेय, श्रीमती सौजन्या एवं डीजी हेल्थ डॉ. तृप्ति बहुगुणा सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।