Breaking News
  • उत्तराखंड में सूचीबद्व न्यूज पोर्टल पत्रकारों ने वरिष्ठ पत्रकार मनोज इष्टवाल के नेतृत्व में देहरादून सचिवालय में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से मुलाकात की
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि हमारी सरकार के 100 दिन संकल्प, समर्पण एवं प्रयास को समर्पित रहे
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सरकार के 100 दिन पूर्ण होने के अवसर पर 100 दिन विकास के, समर्पण और प्रयास के , विकास पुस्तक का विमोचन किया
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा न्यूज पोर्टल पत्रकारों के हितों को किसी भी प्रकार से प्रभावित नहीं होने दिया जायेगा
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने पत्रकारों की सात सूत्रीय मांग पर सचिव सूचना क़ो जारी किये दिशा-निर्देश.!

चंपावत सीट से चुनाव लड़ेंगे सीएम धामी, विधायक गहतोड़ी ने दिया इस्तीफा

देहरादून, न्यूज़ आई । मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी चंपावत विधानसभा सीट से उपचुनाव लड़ेंगे। भाजपा ने सीएम के उपचुनाव लड़ने को चंपावत विधानसभा सीट सबसे उपयुक्त और सुरक्षित पाई। चम्पावत से भाजपा विधायक कैलाश गहतोड़ी ने गुरुवार को विधानसभा की सदस्यता से त्यागपत्र दे दिया। उन्होंने भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष समेत अन्य नेताओं की उपस्थिति में विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडूड़ी भूषण को उनके आवास पर गुरुवार सुबह को अपना त्यागपत्र सौंपा।
विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडूड़ी द्वारा विधायक कैलाश चंद्र गहतोड़ी का इस्तीफा मंजूर कर लिया गया। इस दौरान बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक, कैबिनेट मंत्री चंदन राम दास, कैबिनेट मंत्री सौरभ बहुगुणा, संगठन महामंत्री अजय कुमार, विधायक खजान दास, मेयर सुनील उनियाल मौजूद रहे। विधानसभा अध्यक्ष के यमुना कॉलोनी स्थित शासकीय आवास पर पहुंचकर विधायक कैलाश चंद्र गहतोड़ी ने अपना इस्तीफा विधानसभा अध्यक्ष को सौंपा। इसके उपरांत विधानसभा अध्यक्ष ने प्रेस को संबोधित करते हुए कैलाश चंद्र गहतोड़ी के इस्तीफे को स्वीकार करने की घोषणा की।
उल्लेखनीय है कि विधानसभा चुनाव में भाजपा ने प्रचंड बहुमत हासिल किया, लेकिन मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी खटीमा से चुनाव हार गए थे। लेकिन भाजपा नेतृत्व ने धामी पर ही विश्वास जताते हुए उन्हें मुख्यमंत्री पद सौंप दिया। संवैधानिक बाध्यता के चलते मुख्यमंत्री धामी को छह माह के भीतर विधानसभा का सदस्य बनना है। उनके दोबारा मुख्यमंत्री बनने के बाद चम्पावत से विधायक गहतोड़ी ने धामी के लिए अपनी सीट खाली करने की सबसे पहले पेशकश की थी। अन्य विधायकों ने भी सीएम के लिए सीट छोड़ने की पेशकश की थी, इनमें करीब आधा दर्जन भाजपा विधायक व विपक्षी कांग्रेस के धारचूला विधायक हरीश धामी शामिल थे, लेकिन सीएम के चुनाव लड़ने के लिए भाजपा ने चंपावत विधानसभा सीट को सबसे सुरक्षित पाया। विधायक गहतोड़ी ने कहा कि उनके क्षेत्र का चहुंमुखी विकास हो, यही उनके लिए सबसे बड़ी उपलब्धि है।