Breaking News
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने पुलिस लाइन में प्रशासनिक भवन, क्वार्टर गार्द एवं बैरक का किया शिलान्यास
  • प्रदेशवासियों को जल्द ही ई-एफआईआर की सुविधा मिलेगी, इसमें घर बैठे ही एफआईआर दर्ज कराई जा सकेगी
  • आकाश अंबानी होंगे रिलायंस जियो इनफोकॉम के नए चेयरमैन
  • सीएम धामी ने पीएम मोदी से की भेंट, जीएसटी क्षतिपूर्ति की अवधि बढ़ाने का किया अनुरोध
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सैनिक स्कूल के लिए वित्तीय सहायता प्रदान किये जाने का किया रक्षा मंत्री से अनुरोध

विधायक संजय गुप्ता को जवाब तलब करेगी भाजपा

देहरादून, न्यूज़ आई । प्रदेश भाजपा लक्सर विधानसभा क्षेत्र के पार्टी विधायक संजय गुप्ता को जवाब तलब करेगी। संजय ने प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक पर चुनाव हराने की साजिश रचने का आरोप लगाया है। उनके बयान से कौशिक ही नहीं पूरी पार्टी स्तब्ध है। पार्टी ने उनकी बयानबाजी का संज्ञान लिया है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने भी कहा कि बयान की सत्यता की जांच की जा रही है। संजय हरिद्वार जिले की लक्सर विधानसभा सीट से भाजपा के प्रत्याशी हैं। इस सीट पर संजय गुप्ता, बसपा के पूर्व विधायक मोहम्मद शहजाद और कांग्रेस के अंतरिक्ष सैनी के बीच कांटे का मुकाबला माना जा रहा है। बताया जा रहा है कि मतदान के बाद आए रुझानों से भाजपा प्रत्याशी संजय गुप्ता सहज नहीं हैं। उन्हें पराजय का अंदेशा है।
मतदान के बाद सोमवार की शाम को ही उनका एक वीडियो बयान सोशल मीडिया पर वायरल हुआ, जिसने भाजपा के हलकों में खलबली मचा दी। संजय ने प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक पर सीधा हमला बोला और उन पर उन्हें चुनाव हराने की साजिश रचने का बेहद गंभीर आरोप जड़ दिया। कुछ ही मिनटों में उनका यह बयान सोशल मीडिया की सनसनी बन गया। इस बयान के जरिये विपक्षी दलों ने इसे हरिद्वार और प्रदेश में भाजपा के चुनाव में खराब प्रदर्शन से जोड़कर पेश किया। पार्टी के प्रदेश महामंत्री कुलदीप कुमार ने कहा कि पार्टी इसका निश्चित तौर पर संज्ञान लेगी। सूत्रों के मुताबिक पार्टी जल्द ही संजय गुप्ता को जवाब तलब करेगी। हालांकि मतगणना तक संजय पर अनुशासनिक कार्रवाई टाली जा सकती है। 10 मार्च को चुनाव परिणाम के बाद पार्टी इस मामले में कोई कार्रवाई कर सकती है। प्रदेश भाजपा कार्यालय पहुंचे मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से विधायक संजय गुप्ता के बयान के बारे में पूछा गया तो उन्होंने सिर्फ इतना ही कहा कि बयान की सत्यता की जांच की जा रही है।