Breaking News
  • भाजपा से बर्खास्त हरक सिंह रावत ने कांग्रेस के वार रूम में कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण की
  • गणतंत्र दिवस के मौके पर राजपथ पर निकलने वाली झांकी में देवभूमि की झांकी का हुआ चयन
  • उत्तराखंड महिला आयोग की अध्यक्ष कुसुम कंडवाल ने देहरादून में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से शिष्टाचार भेंट की
  • भाजपा ने जन सहभागिता के अनुरुप दृष्टि पत्र बनाने का लिया है संकल्पः निशंक
  • सरकार के विकास कार्यों का जन आशीर्वाद भाजपा को 60 पार के रूप में मिलेगाः सीएम पुष्कर सिंह धामी

कैबिनेट बैठक में किसान कानून वापसी वाले बिल पर लगी मुहर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय कैबिनेट की बैठक खत्म हो गई है. तीनों कृषि कानूनों की वापसी के एलान के बाद आज कैबिनेट बैठक में किसान कानून वापसी वाले बिल पर मुहर लग गई. कैबिनेट ने सर्वसम्मति से कृषि बिल वापस लेने का प्रस्ताव पास कर दिया है. केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर दोपहर तीन बजे इस मुद्दे पर प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सकते हैं.
पीएम मोदी ने 19 नवंबर को राष्ट्र के नाम संबोधन में तीनों विवादित कृषि कानूनों को वापस लेने का एलान किया था. कृषि कानूनों को वापस लिए जाने के लिए बिल को कैबिनेट की ओर से मंजूरी मिल गई है. इसके बाद संसद के दोनों सदनों में पारित करवाया जाएगा और तीनों कृषि कानून विधिवत रूप से खत्म हो जाएंगे.
संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवम्बर से शुरू हो रहा है. संसदीय नियमों के मुताबिक किसी भी पुराने कानून को वापस लेने की भी वही प्रक्रिया है जो किसी नए कानून को बनाने की है. जिस तरह से कोई नया कानून बनाने के लिए संसद के दोनों सदनों से बिल पारित करवाना पड़ता है ठीक उसी तरह पुराने कानून को वापस लेने या समाप्त करने के लिए संसद के दोनों सदनों से बिल पारित करवाना पड़ता है.