Breaking News
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि चुनाव से पहले प्रदेश की जनता से किए गए वादों के अनुरूप काम कर रही है सरकार
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि लोकतंत्र के लिए पत्रकारिता एक महत्वपूर्ण स्तंभ
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने नैनीताल क्लब में आम जनता की समस्याओं को सुना
  • सासंद राज्य सभा उत्तराखंड नरेश बंसल ने भगवान बद्री विशाल के दर्शन किए
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से शुक्रवार को मुख्यमंत्री आवास में उ0प्र0 के मत्स्य पालन मंत्री  संजय निषाद ने भेंट की

स्पीकर ऋतु खंडूड़ी की अध्यक्षता में हुई कार्यमंत्रणा समिति की बैठक

देहरादून, न्यूज़ आई । उत्तराखंड की पांचवीं विधानसभा के 29 मार्च से प्रारम्भ हो रहे प्रथम सत्र के कार्य संचालन एवं विधायी कार्यों को लेकर नवनिर्वाचित उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडूडी भूषण की अध्यक्षता में कार्य मंत्रणा की बैठक आयोजित की गई। बैठक के दौरान कार्य मंत्रणा समिति के सदस्यों द्वारा सत्र के दौरान चलने वाली संसदीय कार्यवाही पर चर्चा की गई।
विधानसभा भवन देहरादून में आयोजित कार्यमंत्रणा समिति की बैठक के दौरान संसदीय कार्य मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल, विधायक खजान दास, बहुजन समाजवादी पार्टी के विधान मंडल दल के नेता हाजी शहजाद मौजूद रहे। बैठक के दौरान 29 मार्च को चलने वाले सदन की कार्यसूची पर चर्चा की गई जिसमें तय किया गया कि सत्र के पहले दिन राज्यपाल के अभिभाषण के साथ-साथ पटल पर इस वित्तीय वर्ष का लेखानुदान प्रस्तुत किया जाएगा। बैठक में तय किया गया कि आगे के उपवेशन के लिए कार्य मंत्रणा समिति की बैठक आहूत की जाएगी।
बैठक के उपरांत पत्रकारों से बातचीत में विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि विधानसभा अध्यक्ष के रूप में पहली बार सदन को संचालित करना उनके लिए गौरवपूर्ण क्षण है साथ ही उनके लिए चुनौती भी है। उन्होंने सदन के सभी सदस्यों से शांतिपूर्वक एवं सुचारु रुप से संचालित करने के लिए सहयोग की अपेक्षा की है। विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि प्रदेश के विकास एवं जनहित में उठाये गए मुद्दों पर सदन में सकारात्मक चर्चा होगी। विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि वह सत्ता पक्ष एवं विपक्ष के सभी सदस्यों को साथ लेकर समान अवसर प्रदान करेंगी। विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि जनता की आशाओं और अपेक्षाओं को पूरा करने के लिए उनका प्रयास लोकतांत्रिक संस्था को सशक्त बनाना होगा। नीतियों और कानून के निर्माण तथा जनहित से जुड़े विषयों के लिए सदन को व्यापक चर्चा-संवाद का केंद्र बनाकर ही हम कार्यपालिका पर नियंत्रण रखते हुए जनता का कल्याण कर सकते हैं। इस अवसर पर विधानसभा के सचिव मुकेश सिंघल, विधायी के प्रमुख सचिव हीरा सिंह बोनाल सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।