Breaking News
  • भाजपा से बर्खास्त हरक सिंह रावत ने कांग्रेस के वार रूम में कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण की
  • गणतंत्र दिवस के मौके पर राजपथ पर निकलने वाली झांकी में देवभूमि की झांकी का हुआ चयन
  • उत्तराखंड महिला आयोग की अध्यक्ष कुसुम कंडवाल ने देहरादून में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से शिष्टाचार भेंट की
  • भाजपा ने जन सहभागिता के अनुरुप दृष्टि पत्र बनाने का लिया है संकल्पः निशंक
  • सरकार के विकास कार्यों का जन आशीर्वाद भाजपा को 60 पार के रूप में मिलेगाः सीएम पुष्कर सिंह धामी

ढाई महीने से चल रहे किसान आंदोलन का अब तक कोई समाधान नहीं निकल पा रही सरकार !

नई दिल्ली: नए कृषि कानूनों के खिलाफ पिछले 72 दिनों से दिल्ली के बॉर्डर पर चल रहे किसान आंदोलन का अब तक कोई हल नहीं निकल पाया है. इस मुद्दे पर लगातार बढ़ रहे विवाद को देखते हुए पीएम नरेंद्र मोदी खुद इस मसले का समाधान निकालने में जुट गए हैं. उन्होंने संसद भवन में कैबिनेट के वरिष्ठ सहयोगियों के साथ बैठक की है.
जानकारी के मुताबिक इस बैठक में गृह मंत्री अमित शाह, सूचना प्रसारण मंत्री प्रकाश जावडेकर और संसदीय कार्य मंत्री प्रल्हाद जोशी मौजूद भी मौजूद हैं. किसान आंदोलन की वजह से लोक सभा की कार्रवाई में लगातार गतिरोध बना हुआ है. जिसके चलते सरकार विभिन्न मसलों पर न तो चर्चा करा पा रही है और न ही विधेयक पास करवा पा रही है. पीएम सोमवार को इस मुद्दे पर राज्य सभा में जवाब देंगे. बता दें कि पंजाब, हरियाणा और पश्चिमी यूपी से आए किसान टिकरी, सिंघु और गाजीपुर बॉर्डर पर बैठकर लगातार ढाई महीने से धरना दे रहे हैं.