Breaking News
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि चुनाव से पहले प्रदेश की जनता से किए गए वादों के अनुरूप काम कर रही है सरकार
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि लोकतंत्र के लिए पत्रकारिता एक महत्वपूर्ण स्तंभ
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने नैनीताल क्लब में आम जनता की समस्याओं को सुना
  • सासंद राज्य सभा उत्तराखंड नरेश बंसल ने भगवान बद्री विशाल के दर्शन किए
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से शुक्रवार को मुख्यमंत्री आवास में उ0प्र0 के मत्स्य पालन मंत्री  संजय निषाद ने भेंट की

उत्तराखंड पहुंचे राहुल गांधी ने बीजेपी पर जमकर हल्ला बोला

हरिद्वार/देहरादून, न्यूज़ आई। उत्तराखंड पहुंचे कांग्रेस पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने बीजेपी पर जमकर हल्ला बोला। कहा कि कांग्रेस के शासन में पीएम हुआ करते थे, लेकिन अब पीएम नहीं राजा हैं। राजा न सुनेगा न बात करेगा, सिर्फ अपना निर्णय लेगा। राहुल ने भाजपा पर हमलावर होते हुए कहा मोदी सरकार ने भारत के दो हिस्से कर दिए हैं। जिसमें एक अमीरों का और दूसरा गरीब, किसान और मजूदरों का भारत है। कांग्रेस एक हिन्दुस्तान चाहती है, जिसमें सबको न्याय मिले।
शनिवार को ऊधमसिंह नगर जिले के किच्छा में नई मंडी समिति परिसर में आयोजित उत्तराखंडी स्वाभिमान किसान संवाद में राहुल गांधी ने कहा कि वह देश को किसानों को बधाई देना चाहते हैं। तीन कानूनों को रद्द कराने के लिए किसान पहाड़ की तरह खड़े रहे और एक कदम पीछे नहीं हटाया और एक इंच भी जमीन नहीं दी। हिन्दुस्तान की सरकार को किसानों ने सच्चाई दिखाई। इस सरकार को यह सच्चाई दिखानी जरूरी थी। किसान हमेशा देश को रास्ता दिखाता रहा है। आजादी की लड़ाई भी मजदूर-किसानों ने लड़ी, उद्योपतियों ने नहीं। राहुल ने कहा कि भाजपा के राज में दो हिन्दुस्तान बन गए हैं। एक अमीरों का हिन्दुस्तान है जो चार्टर्ड प्लेन में उड़ते हैं, फाइव स्टार होटल में रहते हैं, कानून तोड़ते हैं और जमीन कब्जाते हैं। देश के 40 फीसदी लोगों के बराबर पैसा इनके पास है। विश्व में ऐसी असमानता कहीं नहीं दिखती है। दूसरी ओर गरीब, मजदूर, किसान हैं जो बेरोजगारी, महंगाई की मार झेल रहे हैं और इनकी जमीनें कब्जाई जा रही हैं। राहुल ने साफ तौर पर कहा देश के लोगों को दो हिन्दुस्तान नहीं चाहिए। हमे ऐसा हिन्दुस्तान चाहिए जिनमें न्याय होता हो। बोले, कांग्रेस के समय में प्रधानमंत्री बात करते थे। इस सरकार में पीएम नहीं राजा है जो बात नहीं करते सीधे अपना निर्णय सुनाते हैं। उन्होंने किसान आंदोलन की बात दोहराते हुए कहा ठंड और कोविड के बीच किसान सड़कों पर पड़े थे, लेकिन राजा ने बात करने की कोई कोशिश नहीं की। वह मन की बात करते रहे। किसानों को अपने ऑफिस में बुलाते उनकी बात सुननी चाहिए थी।
हरिद्वार पहुंचने पर भी राहुल गांधी बीजेपी पर जमकर बरसे। कहा कि भाजपा सरकार ने उत्तराखंड में विकास कार्यों को ठप कर दिया है। चुनावी वादा करते हुए गांधी ने कहा कि कांग्रेस की सरकार बनते ही चार लाख लोगों को बेरोजगारों को नौकरी दी जाएगी। कहा कि एलपीजी सिलेंडर के दाम पांच रुपये से ज्यादा किसी भी हालत में नहीं बढ़ने दिए जाएंगे। गांधी ने बताया कि उत्तराखंड में ‘न्याय’ योजना भी चलाई जाएगी ताकि जरूरतमंदों को सालाना 40 हजार रुपयों की आर्थिक मदद की जा सके। चुनावी रैली के बाद राहुल गांधी ने गंगा पूजा भी की।
राहुल गांधी ने कहा कि यूपीए की सरकार में किसान-मजूदरों के डेलीगेशन अपनी मांगों को लेकर आते थे। यह लोग अपनी बात रखते थे। हर बार सरकार मांगों को नहीं मान सकती थी। अगर मांग ठीक नहीं लगती थी तो मना कर देते थे, लेकिन मांग ठीक लगती थी तो उसे मानते थे। यह बात नहीं करते हैं। इनके दरवाजे सिर्फ उद्योपतियों के लिए खुले हैं। राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस की सरकार में 10 दिन में किसानों का कर्ज माफ कर दिया था। 70 हजार करोड़ रुपये किसानों की कर्जमाफी हुई थी। हमने कोई फ्री गिफ्ट नहीं दिया था। हमने समझा था कि किसान परेशानी में हैं। हमने किसानों की मदद की क्योंकि किसान देश की मदद करता है। किसान के बिना देश नहीं चल सकता है। किसान न हों तो उद्योग भी नहीं चलेंगे। किसान देश की नींव है और नींव कमजोर तो देश कमजोर होगा।