Breaking News
  • ऋषिकेश की चिला नहर से मिला अंकिता का शव, हत्याकांड की जांच करेगी एसआईटी, सीएम पुष्कर सिंह धामी ने दिये ये निर्देश
  • आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत मुख्यमंत्री ने विभिन्न चिकित्सालयों, चिकित्सकों एवं आरोग्य मित्र आदि को किया सम्मानित
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने लघु उद्योग भारती द्वारा आयोजित उत्तराखण्ड उद्यमी व श्रमिक सम्मान समारोह में प्रतिभाग किया
  • उत्तराखण्ड लोक सेवा आयोग ने प्रथम चरण की परीक्षाओं का कैलेण्डर निर्धारित किया
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने केंद्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत की अध्यक्षता में किशाऊ बांध बहुद्देशीय परियोजना पर आयोजित बैठक में किया प्रतिभाग

सीएए के कारण किसी भी मुसलमान को नहीं होगा कोई नुकसान: मोहन भागवत

गुवाहाटी। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत ने बुधवार को कहा कि देश में लोगों का एक वर्ग राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) और नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) के मुद्दे पर राजनीतिक लाभ हासिल करना चाहता है।
भागवत ने यहां एक पुस्तक विमोचन समारोह के दौरान कहा कि सीएए और एनआरसी का हिंदू-मुसलमान विभाजन से कुछ लेना-देना नहीं है और कुछ लोग अपने राजनीतिक हित के लिये दोनों मुद्दों को सांप्रदायिक रंग दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस नागरिकता कानून की वजह से देश में किसी भी मुसलमान को कोई नुकसान नहीं होगा।
आरएसएस प्रमुख ने ‘सिटिजनशिप डिबेट ओवर एनआरसी एंड सीएए-असम एंड द पॉलिटिक्स ऑफ हिस्ट्री’ नाम की एक किताब के विमोचन के बाद कहा, “ स्वतंत्रता के बाद देश के पहले प्रधानमंत्री ने कहा था कि अल्पसंख्यकों का ख्याल रखा जाएगा। हम ऐसा करना जारी रखेंगे। सीएए के कारण किसी भी मुसलमान को कोई नुकसान नहीं होगा।”