Breaking News
  • ज्यपाल लेफ्टिनेंट (से.नि.) जनरल गुरमीत सिंह ग्रीष्मकालीन प्रवास पर राजभवन नैनीताल पहुंचे।
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने किया 113.34 करोड़ की योजनाओं का शिलान्यास एवं लोकार्पण
  • मुख्य सचिव डॉ. एस. एस. संधु ने चारधाम यात्रा के सम्बन्ध में सम्बन्धित जनपदों के जिलाधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से ली बैठक
  • प्रदेश के कैबिनेट मंत्री प्रेम चन्द अग्रवाल द्वारा शहरी विभाग के अन्तर्गत देहादून स्मार्ट सिटी के सम्बन्ध में विधान सभा में बैठक ली
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने उत्तराखंड के पूर्व  पुलिस महानिदेशक अनिल रतूड़ी द्वारा लिखित उपन्यास “भंवर एक प्रेम कहानी“ का विमोचन किया

स्मार्ट सिटी परियोजना के कार्यों की धीमी प्रगति पर जिलाधिकारी ने नाराजगी जताई

देहरादून, न्यूज़ आई। जिलाधिकारी व मुख्य कार्यकारी अधिकारी स्मार्ट सिटी लि0 डॉ0 आर राजेश कुमार ने आज शहर में स्मार्ट सिटी परियोजना लि0 के गतिमान कार्यों का स्थलीय निरीक्षण करते हुए कार्यों की धीमी प्रगति एवं लापरवाही पर सम्बन्धित अधिकारियों के विरूद्ध कड़ी नाराजगी जाहिर की। उन्होंने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि आमजनमानस की सुविधा एवं सुरक्षा को मध्यनजर रखते हुए रात्रि में युद्धस्तर पर कार्य करना सुनिश्चित करें। कहा कि रात्रि में कार्य के दौरान सड़कों पर खोदे गए गड्डों को दिन में बंद रखना सुनिश्चित करेंगे ताकि किसी प्रकार की दुर्घटना की सम्भावना न रहे। वहीं सम्बन्धित अधिकारियों को दी गई समय-सीमा के भीतर गुणवत्ता के साथ कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कार्य में किसी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नही की जाएगी वे प्रतिदिन कार्यों की समीक्षा करेंगे।
जिलाधिकारी ने क्रास रोड मॉल से आराघर तक निरीक्षण के दौरान स्मार्ट सिटी लि0 एवं सम्बन्धित कार्यदायी संस्थाओं के अधिकारियों को धरातल पर जाकर वास्तविकता से रूबरू होते हुए गम्भीरता से इसकी मॉनिटरिंग करने तथा समय से कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान बिछाई गई सीवर लाईन के ऊपरी हिस्से में सड़क के पैचवर्क के कार्य गुणवत्तानुसार न होने पर जल संस्थान के अधिकारियों को तीन दिन के भीतर पैचवर्क कार्य गुणवत्ता के साथ पूर्ण करने के निर्देश दिए। वहीं गैल द्वारा गैस पाईपलाईन के निर्माण कार्यों हेतु सड़कों पर खोदे गए गड्डो तथा निर्माण सामग्री ईधर-उधर बिखरी होने पर कड़ी नाराजगी जाहिर करते हुए निर्धारित समय अवधि के भीतर कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिए। साथ ही यूपीसीएल द्वारा भूमिगत विद्युत लाईन कार्य के निरीक्षण के दौरान जनमानस को असुविधा होने पर कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि कार्य के दौरान जनमानस की सुविधा को दृष्टिगत रखते हुए रात्रि को कार्य करें तथा श्रमिक बढाते हुए व्यवस्थित तरीके से कार्य करना सुनिश्चित करेंगे। जिलाधिकारी ने चेतावनी देते हुए कहा कि कार्यों को गंभीरता से न लेने वाले सम्बन्धित अधिकारी एवं कार्यदायी संस्थाओं पर सख्त कार्यवाही करने के साथ ही प्राथमिकी दर्ज की जाएगी। निरीक्षण के दौरान जल संस्थान से अधीक्षण अभियन्ता आशीष भट्ट, लोनिवि से अधीक्षण अभियन्ता दुर्गेश नौटियाल, यूपीसीएल से अधिशसी अभियन्ता गौरव सकलानी, स्मार्ट सिटी लि0 से जीएम तकनीकि जगमोहन चोहान, अधीशासी अभियन्ता तनुज काम्बोज, एजीएम वाटसवर्क्स कृष्णा चमोला, गैल कम्पनी से प्रवीण कुमार आदि उपस्थित रहे।