Breaking News
  •  मुख्य सचिव डॉ. एस. एस. संधु ने प्रदेश के सभी कार्मिकों की एसीआर ऑनलाइन किए जाने के सम्बन्ध में निर्देश दिए
  • मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्वोत्तर राज्यों और देवभूमि उत्तराखण्ड के बीच प्राचीन काल से ही एक अनूठा संबंध रहा
  • मुख्यमंत्री ने कहा कि नार्थ ईस्ट के साथ उत्तराखण्ड की कई मामलों में समानता है
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि युवा उद्यमियों द्वारा कृषि-स्टार्टअप को प्रोत्साहित करने के लिए कृषि कोष बनाया जाएगा
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने ने बजट को बताया शानदार

स्मार्ट सिटी परियोजना के कार्यों की धीमी प्रगति पर जिलाधिकारी ने नाराजगी जताई

देहरादून, न्यूज़ आई। जिलाधिकारी व मुख्य कार्यकारी अधिकारी स्मार्ट सिटी लि0 डॉ0 आर राजेश कुमार ने आज शहर में स्मार्ट सिटी परियोजना लि0 के गतिमान कार्यों का स्थलीय निरीक्षण करते हुए कार्यों की धीमी प्रगति एवं लापरवाही पर सम्बन्धित अधिकारियों के विरूद्ध कड़ी नाराजगी जाहिर की। उन्होंने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि आमजनमानस की सुविधा एवं सुरक्षा को मध्यनजर रखते हुए रात्रि में युद्धस्तर पर कार्य करना सुनिश्चित करें। कहा कि रात्रि में कार्य के दौरान सड़कों पर खोदे गए गड्डों को दिन में बंद रखना सुनिश्चित करेंगे ताकि किसी प्रकार की दुर्घटना की सम्भावना न रहे। वहीं सम्बन्धित अधिकारियों को दी गई समय-सीमा के भीतर गुणवत्ता के साथ कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कार्य में किसी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नही की जाएगी वे प्रतिदिन कार्यों की समीक्षा करेंगे।
जिलाधिकारी ने क्रास रोड मॉल से आराघर तक निरीक्षण के दौरान स्मार्ट सिटी लि0 एवं सम्बन्धित कार्यदायी संस्थाओं के अधिकारियों को धरातल पर जाकर वास्तविकता से रूबरू होते हुए गम्भीरता से इसकी मॉनिटरिंग करने तथा समय से कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान बिछाई गई सीवर लाईन के ऊपरी हिस्से में सड़क के पैचवर्क के कार्य गुणवत्तानुसार न होने पर जल संस्थान के अधिकारियों को तीन दिन के भीतर पैचवर्क कार्य गुणवत्ता के साथ पूर्ण करने के निर्देश दिए। वहीं गैल द्वारा गैस पाईपलाईन के निर्माण कार्यों हेतु सड़कों पर खोदे गए गड्डो तथा निर्माण सामग्री ईधर-उधर बिखरी होने पर कड़ी नाराजगी जाहिर करते हुए निर्धारित समय अवधि के भीतर कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिए। साथ ही यूपीसीएल द्वारा भूमिगत विद्युत लाईन कार्य के निरीक्षण के दौरान जनमानस को असुविधा होने पर कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि कार्य के दौरान जनमानस की सुविधा को दृष्टिगत रखते हुए रात्रि को कार्य करें तथा श्रमिक बढाते हुए व्यवस्थित तरीके से कार्य करना सुनिश्चित करेंगे। जिलाधिकारी ने चेतावनी देते हुए कहा कि कार्यों को गंभीरता से न लेने वाले सम्बन्धित अधिकारी एवं कार्यदायी संस्थाओं पर सख्त कार्यवाही करने के साथ ही प्राथमिकी दर्ज की जाएगी। निरीक्षण के दौरान जल संस्थान से अधीक्षण अभियन्ता आशीष भट्ट, लोनिवि से अधीक्षण अभियन्ता दुर्गेश नौटियाल, यूपीसीएल से अधिशसी अभियन्ता गौरव सकलानी, स्मार्ट सिटी लि0 से जीएम तकनीकि जगमोहन चोहान, अधीशासी अभियन्ता तनुज काम्बोज, एजीएम वाटसवर्क्स कृष्णा चमोला, गैल कम्पनी से प्रवीण कुमार आदि उपस्थित रहे।