Breaking News
  • एचआईवी संक्रमण मुक्त उत्तराखंड को लेकर गंभीर धामी सरकार
  • एक्शन में स्वास्थ्य सचिव डॉ. आर. राजेश कुमार, उत्तराखंड स्वास्थ्य विभाग में जल्द भरें जायेंगे खाली पड़े पद
  • उत्तराखंड में धर्मांतरण पर बना सख्त कानून, देशभर के साधु-संतों में हर्ष की लहर, मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को मिल रही शुभकामनाएं
  • प्रदेश में धर्मान्तरण पर रोक सम्बंधित कानून बना
  • महिलाओं को सरकारी नौकरियों के क्षैतिज आरक्षण का बना कानून

एमएसपी को लेकर सरकार लिखित आश्वसन देने के लिए तैयार : कृषि राज्यमंत्री

दिल्ली/जयपुर। दिल्ली स्थित कृषि भवन में गुरुवार को केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर की अध्यक्षता में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से एग्री इंडिया हैकाथान का आयोजन किया गया। इसमें केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी और पुरुषोत्तम रुपाला सहित देशभर के कृषि वैज्ञानिकों एवं कृषि विशेषज्ञों ने भाग लिया एवं प्रतिभागियों से संवाद किया।
डिजिटल संवाद को सम्बोधित करते हुए केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने कहा कि किसानों की परेशानियां दूर करने के लिए मोदी सरकार कई योजनाएं लाई है। किसानों के लिए समर्पित हमारी सरकार किसानों को अन्नदाता मानती है। पिछले साढ़े 6 साल में मोदी सरकार ने किसानों की एक-एक जरूरत को ध्यान में रखते हुए काम किया है। इस कार्यावधि में मोदी सरकार ने किसानों के हित के लिए इतने कार्य किए हैं, जितने पहले किसी भी सरकार के दौरान नहीं हुए।
कार्यक्रम के बाद केंद्रीय कृषि और किसान कल्याण राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी का जोर कृ‍षि और उससे जुड़े क्षेत्रों में तकनीकी का इस्तेमाल बढ़ाने और नए प्रयोग करने के लिए कृषि-उद्यमिता को बढ़ावा देने पर है। इसी के तहत राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के तहत ‘नवाचार और कृषि-उद्यमिता विकास’ कार्यक्रम को अपनाया गया है। कैलाश चौधरी ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने भारतीय समुदायों के पारंपरिक ज्ञान को युवा और एग्रीकल्चर ग्रेजुएट की स्किल और टेक्नोलॉजी से जोड़ने पर जोर देने की भी बात कही है। इससे ग्रामीण क्षेत्रों में भारतीय कृषि की पूर्ण क्षमता का फायदा लिया जा सकेगा।