Breaking News
  • भाजपा से बर्खास्त हरक सिंह रावत ने कांग्रेस के वार रूम में कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण की
  • गणतंत्र दिवस के मौके पर राजपथ पर निकलने वाली झांकी में देवभूमि की झांकी का हुआ चयन
  • उत्तराखंड महिला आयोग की अध्यक्ष कुसुम कंडवाल ने देहरादून में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से शिष्टाचार भेंट की
  • भाजपा ने जन सहभागिता के अनुरुप दृष्टि पत्र बनाने का लिया है संकल्पः निशंक
  • सरकार के विकास कार्यों का जन आशीर्वाद भाजपा को 60 पार के रूप में मिलेगाः सीएम पुष्कर सिंह धामी

मैं उस संगीत के लिए काम करता हूं जो मेरी रगों में है: बादशाह

नई दिल्ली। देश के शीर्ष रैपर्स में शामिल होने के बावजूद बादशाह जोर देकर कहते हैं कि वह स्टारडम के लिए काम नहीं करते। वह कहते हैं, इसी वजह से स्टारडम खोने का डर उन्हें कभी परेशान क्यों नहीं करता। बादशाह ने दावा किया, “मैं स्टारडम के लिए काम नहीं करता। मैं उस संगीत के लिए काम करता हूं जो मेरी रगों में है। मुझे पता है कि मैं इसे कभी नहीं खोऊंगा। यह मेरे लिए भगवान का उपहार है।”
उनके मुताबिक जीवन एक क्रूज की तरह है । पिछले कुछ सालों में उनके चार्टबस्टर्स में ‘मर्सी’, ‘पागल’, ‘डीजे वाले बाबू’, ‘अभी तो पार्टी शुरू हुई है’, ‘कर गई चुल’, ‘शी मूव इट लाइक’, ‘वखरा स्वैग’ शामिल हैं। ‘गर्मी’ और ‘गेंदा फूल’, के रूप में ये सिलसिला अभी तक जारी है। वह 2017, 2018 और 2019 में फोर्ब्स इंडिया के सेलिब्रिटी 100 में भारत में सबसे अधिक भुगतान पाने वाली हस्तियों में से एक के रूप में नजर आए। साहित्यिक चोरी के आरोपों और नकली विचारों की खरीद के विवाद, जिसने पिछले साल उन्हें परेशान किया था, उसको भी उन्होंने भुला दिया।