Breaking News
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्रीज्योतिरादित्य सिंधिया से भेंट कर उत्तराखण्ड में हवाई सेवाओं की मजबूती पर चर्चा की
  • उड़ान योजना के अगले टेंडर में शामिल की जाएगी गौचर व चिन्यालीसौड़ की हवाई सेवा
  • लाल बहादुर शास्त्री अकादमी में आयोजित चिंतन शिविर में राज्य के विकास के लिए अनेक विषयों पर चर्चा हुई: मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने जनपद टिहरी क्षेत्रान्तर्गत परोगी (अगलाड़) थत्यूड़ में विभिन्न विकास योजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासनिक अकादमी, मसूरी में सशक्त उत्तराखंड @25 चिंतन शिविर में किया प्रतिभाग

मैं उस संगीत के लिए काम करता हूं जो मेरी रगों में है: बादशाह

नई दिल्ली। देश के शीर्ष रैपर्स में शामिल होने के बावजूद बादशाह जोर देकर कहते हैं कि वह स्टारडम के लिए काम नहीं करते। वह कहते हैं, इसी वजह से स्टारडम खोने का डर उन्हें कभी परेशान क्यों नहीं करता। बादशाह ने दावा किया, “मैं स्टारडम के लिए काम नहीं करता। मैं उस संगीत के लिए काम करता हूं जो मेरी रगों में है। मुझे पता है कि मैं इसे कभी नहीं खोऊंगा। यह मेरे लिए भगवान का उपहार है।”
उनके मुताबिक जीवन एक क्रूज की तरह है । पिछले कुछ सालों में उनके चार्टबस्टर्स में ‘मर्सी’, ‘पागल’, ‘डीजे वाले बाबू’, ‘अभी तो पार्टी शुरू हुई है’, ‘कर गई चुल’, ‘शी मूव इट लाइक’, ‘वखरा स्वैग’ शामिल हैं। ‘गर्मी’ और ‘गेंदा फूल’, के रूप में ये सिलसिला अभी तक जारी है। वह 2017, 2018 और 2019 में फोर्ब्स इंडिया के सेलिब्रिटी 100 में भारत में सबसे अधिक भुगतान पाने वाली हस्तियों में से एक के रूप में नजर आए। साहित्यिक चोरी के आरोपों और नकली विचारों की खरीद के विवाद, जिसने पिछले साल उन्हें परेशान किया था, उसको भी उन्होंने भुला दिया।