Breaking News
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि चुनाव से पहले प्रदेश की जनता से किए गए वादों के अनुरूप काम कर रही है सरकार
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि लोकतंत्र के लिए पत्रकारिता एक महत्वपूर्ण स्तंभ
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने नैनीताल क्लब में आम जनता की समस्याओं को सुना
  • सासंद राज्य सभा उत्तराखंड नरेश बंसल ने भगवान बद्री विशाल के दर्शन किए
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से शुक्रवार को मुख्यमंत्री आवास में उ0प्र0 के मत्स्य पालन मंत्री  संजय निषाद ने भेंट की

संसद के मानसून सत्र की हंगामे के साथ हुई शुरुवात

नई दिल्ली। संसद के मानसून सत्र के पहले दिन सोमवार को हंगामे के कारण लोकसभा की कार्यवाही 2 बजे तक स्थगित करनी पड़ी। विपक्षी सांसदों ने कृषि कानूनों, डीजल-पेट्रोल के बढ़ते दाम को लेकर सदन में नारेबाजी की। इस हंगामे के कारण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नए मंत्रियों का परिचय नहीं करा सके और लोकसभा स्पीकर ने 2 बजे तक कार्यवाही स्थगित कर दिया। संसद में कांग्रेस, अकाली दल सहित सभी विपक्षी दलों के सांसदों की ओर से नारेबाजी और हंगामे पर नाराजगी जाहिर करते हुए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सदन में कहा, 24 वर्षों के संसदीय जीवन में पहली बार देख रहा हूं कि पीएम के नए मंत्रियों का सदन से परिचय कराने की स्वस्थ परंपरा को तोड़ा गया है।
इसके पूर्व प्रधानमंत्री मोदी ने विपक्ष के हंगामे के बीच बोलते हुए कहा कि पहली बार अधिक संख्या में महिला, दलित और आदिवासी मंत्री बने हैं। कुछ लोगों को यह रास नहीं आ रहा है, इसलिए सदन में हंगामा कर रहे।