Breaking News
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासनिक अकादमी, मसूरी में सशक्त उत्तराखंड @25 चिंतन शिविर में किया प्रतिभाग
  • अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति को ध्यान में रख बने योजनाएं: सीएम पुष्कर सिंह धामी
  • सशक्त उत्तराखण्ड @ 25 को साकार, करेगा चिंतन शिविरः सीएम पुष्कर सिंह धामी
  • विभागीय प्रक्रियाओं का सरलीकरण कर के समाधान का रास्ता निकालना हैः मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी
  • सशक्त उत्तराखंड @25 चिंतन शिविर का हुआ शुभारंभ, मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने किया शुभारंभ

विधानसभा के शीत सत्र में कोविड प्रोटोकॉल का पूरी तरह से किया जाएगा पालन, कोविड वैक्सीन की दो डोज होने के बाद भी आरटीपीसीआर टेस्ट अनिवार्य

देहरादून, न्यूज़ आई। 9 दिसंबर से शुरू हो रहे विधानसभा के शीत सत्र में कोविड प्रोटोकॉल का पूरी तरह से पालन किया जाएगा। सत्र के लिए विधायकों को भी आरटीपीसीआर कोविड जांच कराना अनिवार्य होगी। इसके साथ सत्र में ड्यूटी पर तैनात अधिकारियों व कर्मचारियों सहित मीडिया कर्मियों के लिए कोविड जांच कराना अनिवार्य होगा। कोविड वैक्सीन की दो डोज होने के बाद भी आरटीपीसीआर टेस्ट अनिवार्य होगा। प्रवेश द्वार पर एंटीजन टेस्ट किया जाएगा। मंगलवार को विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने सत्र के दौरान सुरक्षा व्यवस्था को लेकर उच्च अधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंने विधानसभा सचिवालय और पुलिस विभाग के अधिकारियों को सुरक्षा व्यवस्था पूरी तरह से चाकचौबंद रखने के निर्देश दिए। उन्होंने सत्र के दौरान आवश्यक व्यवस्थाओं को भी जल्द पूरा करने को कहा। पत्रकारों से बातचीत के दौरान विधानसभा अध्यक्ष ने कोविड की संभावना को देखते हुए पूर्व की भांति सत्र के दौरान व्यवस्था की जाएगी। प्रवेश द्वार पर सभी आगंतुकों का थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी। स्वास्थ्य विभाग को सत्र के दौरान आवश्यक चिकित्सा दल, दवाइयों की व्यवस्था करने के निर्देश दिए गए। सत्र के दौरान मुख्य द्वार से ही सदन तक सभी को सैनिटाइज करवाया जाएगा।
सत्र के दौरान गैर सरकारी व्यक्तियों को परिसर में प्रवेश की अनुमति नहीं दी जाएगी। मीडिया कर्मियों को इस बार सत्र में प्रवेश करने की अनुमति दी गई है। पत्रकार दीर्घा एवं दर्शक दीर्घा में 50 प्रतिशत उपस्थिति पर अनुमति दी गई हैद्य पत्रकार दीर्घा में पत्रकारों को रोटेशन वाइज बैठने की अनुमति प्राप्त होगी। विधायकों के सहयोगी व सुरक्षा कर्मियों को परिसर में आने की अनुमति नहीं होगी। सत्र के दौरान विधानसभा अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, नेता सदन, नेेता प्रतिपक्ष और मंत्रियों के वाहन को प्रवेश की अनुमति होगी। पूर्व विधायकों से भी परिसर में आने से बचने का अनुरोध किया गया है।
इस बार सभी माननीय विधायकों को सभा मंडप में ही बैठने की व्यवस्था होगीद्य साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ख्याल रखा जाएगा।
सत्र के विधायी कार्यों को लेकर बुधवार को कार्य मंत्रणा एवं दलीय नेताओं की बैठक आहूत की गई हैद्यविधानसभा अध्यक्ष ने बताया कि अभी तक विधानसभा को 250 प्रश्न माननीय सदस्यों द्वारा प्राप्त हुए हैंद्य सत्र की कार्यवाही को वेबकास्ट किया जाएगा। बैठक में विधानसभा के उपाध्यक्ष रघुनाथ सिंह चौहान, मुख्य सचिव एसएस संधू, अपर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी, अपर मुख्य सचिव आनंद वर्धन, जिलाधिकारी आर. राजेश कुमार, सीएमओ देहरादून मनोज उप्रेती, एसएसपी जन्मेजय खंडूरी, विधानसभा के प्रभारी सचिव मुकेश सिंघल आदि मौजूद थे।