Breaking News
  • 68वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार में उत्तराखण्ड को मिला Most Film Friendly State (Special Mention) पुरस्कार
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शनिवार को लच्छीवाला नेचर पार्क में राज्य वन्यजीव सप्ताह 2022 का शुभारंभ किया
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से फिल्म अभिनेता  नाना पाटेकर ने शिष्टाचार भेंट की, इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने नाना पाटेकर को पहनाई पहाड़ी टोपी 
  • उत्तराखण्ड में फिल्म निर्माता-निर्देशकों को राज्य सरकार से मिला प्रोत्साहन – बंशीधर तिवारी
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने श्रीकोट पहुँचकर अंकिता भंडारी के परिजनों से घर पर जाकर की मुलाकात

देश में कोविड की दूसरी लहर के दौरान 594 डॉक्टरों ने गंवाई जान: आईएमए

भारत में कोविड 19 की दूसरी लहर ने आम इंसान के साथ साथ डॉक्टरों को भी नहीं बक्शा. कोविड से संक्रमित हो कर सैकड़ों डॉक्टरों की जान मरीजों का इलाज करते हुए चली गई है. पूरे भारत में अब तक 594 डॉक्टरों की कोविड के चलते मौत हुई है. इस बात की जानकारी इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने दी है. आईएमए ने कहा कि देश में कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर के दौरान 594 डॉक्टरों की मौत हुई है. आईएमए ने मरने वाले डॉक्टरों के आंकड़े शेयर कर बताया है कि मरने वाले 594 डॉक्टरों में से सबसे ज्यादा राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में थे, जो इस चरण के दौरान भारत में सबसे ज्यादा प्रभावित हॉटस्पॉट में से एक बन गया था. जिसके बाद बिहार, उत्तर प्रदेश, राजस्थान और झारखंड से भी मरने वाले डॉक्टरों का पता चला है. आईएमए के मुताबिक ये डेटा महामारी के मद्देनजर भारत में चिकित्सा समुदाय की दुर्दशा का एक विश्वसनीय अनुमान प्रदान करता है.