Breaking News
  • उत्तराखंड में सूचीबद्व न्यूज पोर्टल पत्रकारों ने वरिष्ठ पत्रकार मनोज इष्टवाल के नेतृत्व में देहरादून सचिवालय में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से मुलाकात की
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि हमारी सरकार के 100 दिन संकल्प, समर्पण एवं प्रयास को समर्पित रहे
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सरकार के 100 दिन पूर्ण होने के अवसर पर 100 दिन विकास के, समर्पण और प्रयास के , विकास पुस्तक का विमोचन किया
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा न्यूज पोर्टल पत्रकारों के हितों को किसी भी प्रकार से प्रभावित नहीं होने दिया जायेगा
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने पत्रकारों की सात सूत्रीय मांग पर सचिव सूचना क़ो जारी किये दिशा-निर्देश.!

विधानसभा बजट सत्र के दूसरे दिन विपक्षी कांग्रेस ने सरकार को जमकर घेरा

देहरादून, न्यूज़ आई। विधानसभा बजट सत्र के दूसरे दिन विपक्षी कांग्रेस ने सरकार को जमकर घेरा। कांग्रेस विधायकों के सवाल पर कई बार मंत्री सदन में घिरते हुए दिखाए दिए। चारधाम यात्रा में तीर्थ यात्रियों की मौत पर कांग्रेस विधायक आक्रामक दिखाई दिए। कांग्रेस ने सदन में जमकर हंगामा करते हुए सरकार को विफल तक करार दिया।
बुधवार को सदन के दूसरे दिन की कार्रवाई शुरू होते ही विपक्षी कांग्रेस काफी आक्रामक रूप में दिखाई दी। केदारनाथ, बदरीनाथ सहित चारधाम यात्रा पर सरकार को जमकर घेरा गया। चारधाम यात्रा रूट पर तीर्थ यात्रियों की मौत को विपक्षी कांग्रेस ने मुद्दा बनाने हुए सरकार को घेरा। नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य ने आरोप लगाया कि चारधाम के सफल संचालन को सरकार पूरी तहर से विफल साबित हो रही है। तीर्थ यात्रियों की मौत का आंकड़ा इसकी साफ गवाही दे रहा है। रजिस्ट्रेशन से लेकर तीर्थ यात्रियों के ठहरने और चिकित्सा, पेयजल आदि का कोई ठोस इंतजाम नहीं किया गया है। सदन में विपक्षी कांग्रेस पूरी तरह से एकजुट दिखाई दिया और सरकार पर जमकर हमला किया। प्रदेश में राशन कार्ड सरेंडर कराने को लेकर भी विपक्षी कांग्रेस ने सदन में जमकर हंगामा किया। आरोप लगाया है कि डबल इंजन की सरकार गरीब तबके के लोगों का उत्पीड़न कर रही है। चिंता जताई है कि सरकार की गलत नीतियों की वजह से लोगों को फ्री गेंहू, चावल आदि राशन नहीं मिल पा रहा है। विधानसभा सत्र के दूसरे दिन बजट पर चर्चा की गई। नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य ने बजट को झूठ का पिटारा करार दिया। कहा कि प्रदेश के पर्वतीय जिलों में बुनियादी सुविधाओं जैसे बिजली, सड़क, शिक्षा, पेजयल, चिकित्सा आदि  के लिए सरकार की कोई ठोस रणनीति नहीं है। दूर दराज गांवों में रह रहे ग्रामीणों को काफी मुसीबतों का सामना करना पड़ता है। तो दूसरी ओर, धामी सरकार ने बजट को दूरदर्शी करार दिया। बताया कि बजट में हर सेक्टर का विशेष ख्याल रखा गया है और आने वाले दिनों में उत्तराखंड विकास के पथ पर दोगुनी गति से चलेगा।