Breaking News
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासनिक अकादमी, मसूरी में सशक्त उत्तराखंड @25 चिंतन शिविर में किया प्रतिभाग
  • अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति को ध्यान में रख बने योजनाएं: सीएम पुष्कर सिंह धामी
  • सशक्त उत्तराखण्ड @ 25 को साकार, करेगा चिंतन शिविरः सीएम पुष्कर सिंह धामी
  • विभागीय प्रक्रियाओं का सरलीकरण कर के समाधान का रास्ता निकालना हैः मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी
  • सशक्त उत्तराखंड @25 चिंतन शिविर का हुआ शुभारंभ, मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने किया शुभारंभ

डाॅक मत प्रकरणः कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गोदियाल ने की निर्वाचन से जांच की मांग

देहरादून, न्यूज़ आई । प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गणेश गोदियाल के नेतृत्व में कांग्रेसजनों के प्रतिनिधिमंडल ने मुख्य निर्वाचन अधिकारी से देहरादून सचिवालय में भेंट कर सेवारत सैनिकों के डाक मतपत्रों सहित सर्विस मतदाता, सेवारत निर्वाचन ड्यूटी में लगे कर्मी, दिव्यांग, 80 वर्ष से अधिक आयु के मतदाताओं के संबध में एक ज्ञापन देकर पोस्टल बैलेट्स की मतदान प्रक्रिया को पारदर्शी बनाये रखने की मांग की।
उन्होंने आग्रह किया कि डाकमतत्र संबधित मतदाता तक पहुंचे या नहीं इसकी उच्च स्तरीय जांच होनी चाहिए और यह सुझाव भी दिया गया कि सेवारत मतदाताओं के मतपत्रों का दुरूपयोग ना हो इसके लिए कोई पारदर्शी व्यवस्था बनाई जानी चाहिए।
उन्होंने मुख्य निर्वाचन अधिकारी को सैनिक मतदाताओं के डीडीहाट विधानसभा क्षेत्र में डाक मतपत्रों पर भाजपा तथा निर्दलीय प्रत्याशी के पक्ष में मतदान करते हुए एक विडियो क्लीप भी पैन ड्राईव में प्रमाण के रूप में उपलब्ध कराकर कहा कि इस विडियों क्लीप से स्पष्ट है की डाक मतपत्रों का दुरूपयोग किया गया है जिससे चुनाव आयोग के स्वतंत्र व निष्पक्ष चुनाव कराने की भावना का भी उलंघन हुआ है।
उन्होंने कहा कि कई विधानसभा क्षेत्रों से उन्हें इस संबध में शिकायतें प्राप्त हुयी हैं जिसका चुनाव आयोग को संज्ञान लेकर उचित कार्रवाही करनी चाहिए जिससे की चुनाव प्रक्रिया पर मतदाताओं का विश्वास बना रहे।
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के साथ प्रतिनिधिमंडल में कांग्रेस उपाध्यक्ष व सलाहकार सुरेन्द्र कुमार, महामंत्री संगठन मथुरादत्त जोशी, प्रवक्ता राजेश चमोली, परवादून जिला कांग्रेस अध्यक्ष अश्वनी बहुगुणा, प्रदेश महामंत्री रघुवीर बिष्ट, दिवाकर चमोली, राजेन्द्र सिंह दानू आदि प्रमुख रूप से उपस्थित थे।