Breaking News
  • ज्यपाल लेफ्टिनेंट (से.नि.) जनरल गुरमीत सिंह ग्रीष्मकालीन प्रवास पर राजभवन नैनीताल पहुंचे।
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने किया 113.34 करोड़ की योजनाओं का शिलान्यास एवं लोकार्पण
  • मुख्य सचिव डॉ. एस. एस. संधु ने चारधाम यात्रा के सम्बन्ध में सम्बन्धित जनपदों के जिलाधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से ली बैठक
  • प्रदेश के कैबिनेट मंत्री प्रेम चन्द अग्रवाल द्वारा शहरी विभाग के अन्तर्गत देहादून स्मार्ट सिटी के सम्बन्ध में विधान सभा में बैठक ली
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने उत्तराखंड के पूर्व  पुलिस महानिदेशक अनिल रतूड़ी द्वारा लिखित उपन्यास “भंवर एक प्रेम कहानी“ का विमोचन किया

दिल्ली की तरह उत्तराखंड में भी कांग्रेस का सूपड़ा होगा साफः दिनेश मोहनिया

देहरादून, न्यूज़ आई: आप प्रदेश प्रभारी दिनेश मोहनिया ने हरीश रावत के बयान पर पलटवार करते हुए कहा, पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत को दिल्ली की तरह उत्तराखंड को लेकर भी गलतफहमी हो गई है। उन्होंने कहा कि डूबते जहाज के कप्तान हरीश रावत को आप पार्टी की लोकप्रियता से अब डर लगने लगा है। उन्होंने कहा कि जनता कांग्रेस और बीजेपी दोनों के कुशाषन से परेशान हो चुकी है। हरीश रावत को गलतफहमी है कि यहां तीसरा दल राजनीति में नहीं आ सकता लेकिन जनता को आप पार्टी के प्रति बढता लगाव और प्रेम इस बात का सबूत है कि जनता अब आप पार्टी की सरकार बनाने जा रही है।
उन्होंने आगे कहा कि दिल्ली में आज कांग्रेस पार्टी का नाम लेने वाला कोई नहीं बचा है। वहां कांग्रेस शून्य पर सिमट चुकी है। दिल्ली की जनता ने 15 साल तक सत्ता में रही कांग्रेस के भ्रष्ट शासन से मुक्ति पाने के लिए आप पार्टी की सरकार बनाई और आप पार्टी के कामों से जनता इतना ज्यादा खुश है कि अब दिल्ली में विधानसभा में कांग्रेस का कोई भी प्रतिनिधित्व नहीं  है। उन्होंने कहा कि हरीश रावत भूल गए हैं  और उन्हें शायद इस बात की जानकारी नहीं है कि जनता अबकी बार काम के नाम पर वोट देने का मन बना चुकी है। अबकी बार जनता समस्याओं से निजात दिलाने वाली पार्टी को सत्ता में लाना चाहती है और आप पार्टी ही वो तीसरा और मजबूत विकल्प उत्तराखंड की जनता के पास है जिसकी दस्तक से कांग्रेस बीजेपी घबराए हुए हैं। उन्होंने कहा कि हम राज्य के शहीदों के सपने पूरे करके दिखाएंगे इस प्रदेश को बीजेपी और कांग्रेस मुक्त कर प्रदेश का नवनिर्माण करेंगे।