Breaking News
  • मानसून के दृष्टिगत मरीजों और गर्भवती महिलाओं के लिए आपातकालीन स्थिति में हेली एम्बुलेंस की व्यवस्था रखी जाए
  • 15 जून से पहले मानसून के दृष्टिगत सभी तैयारियां पूर्ण की जाए- मुख्यमंत्री
  • अजय टम्टा को मोदी सरकार में मिली बड़ी जिम्मेदारी, बने केंद्रीय सड़क एवं परिवहन राज्य मंत्री
  • अजय टम्टा कुमाऊं से केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल होने वाले छठे सांसद
  • बुजुर्ग की लाठी बने सीएम धामी, पुष्कर धामी ने तुरंत किया समस्या का समाधान !

कोच के तौर राहुल द्रविड़ काफी अनुशासित हैं, लेकिन मैदान के बाहर वो एक दोस्त की तरह: पृथ्वी शॉ

नई दिल्ली: भारतीय बल्लेबाज पृथ्वी शॉ ने राहुल द्रविड़ की जमकर तारीफ की है. शॉ ने कहा कि गुरु द्रविड़ उनसे कभी उनका नेचुरल गेम बदलने के लिए नहीं कहा.
पृथ्वी शॉ ने कहा, ‘हमने द्रविड़ सर के साथ 2 साल पहले टूर किया था. हमें पता था कि वह अलग हैं लेकिन उन्होंने कभी भी हम लोगों से अपने जैसा बनने का दबाव नहीं डाला. उन्होंने कभी भी मुझसे कुछ भी बदलने के लिए नहीं कहा. द्रविड़ सर हमेशा मुझे प्राकृतिक खेल खेलने के लिए कहते थे.
पृथ्वी शॉ की कप्तानी में भारत ने अंडर-19 टीम ने वर्ल्ड कप जीता था और उस वक्त द्रविड़ टीम के कोच थे. शॉ ने कहा, ‘जब द्रविड़ सर होते हैं तो आपको अनुशासित होकर रहना पड़ता है. उनसे थोड़ा डर लगता है लेकिन मैदान के बाहर वह हमारे साथ दोस्त की तरह रहते थे.