Breaking News
  • ऋषिकेश की चिला नहर से मिला अंकिता का शव, हत्याकांड की जांच करेगी एसआईटी, सीएम पुष्कर सिंह धामी ने दिये ये निर्देश
  • आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत मुख्यमंत्री ने विभिन्न चिकित्सालयों, चिकित्सकों एवं आरोग्य मित्र आदि को किया सम्मानित
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने लघु उद्योग भारती द्वारा आयोजित उत्तराखण्ड उद्यमी व श्रमिक सम्मान समारोह में प्रतिभाग किया
  • उत्तराखण्ड लोक सेवा आयोग ने प्रथम चरण की परीक्षाओं का कैलेण्डर निर्धारित किया
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने केंद्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत की अध्यक्षता में किशाऊ बांध बहुद्देशीय परियोजना पर आयोजित बैठक में किया प्रतिभाग

कोच के तौर राहुल द्रविड़ काफी अनुशासित हैं, लेकिन मैदान के बाहर वो एक दोस्त की तरह: पृथ्वी शॉ

नई दिल्ली: भारतीय बल्लेबाज पृथ्वी शॉ ने राहुल द्रविड़ की जमकर तारीफ की है. शॉ ने कहा कि गुरु द्रविड़ उनसे कभी उनका नेचुरल गेम बदलने के लिए नहीं कहा.
पृथ्वी शॉ ने कहा, ‘हमने द्रविड़ सर के साथ 2 साल पहले टूर किया था. हमें पता था कि वह अलग हैं लेकिन उन्होंने कभी भी हम लोगों से अपने जैसा बनने का दबाव नहीं डाला. उन्होंने कभी भी मुझसे कुछ भी बदलने के लिए नहीं कहा. द्रविड़ सर हमेशा मुझे प्राकृतिक खेल खेलने के लिए कहते थे.
पृथ्वी शॉ की कप्तानी में भारत ने अंडर-19 टीम ने वर्ल्ड कप जीता था और उस वक्त द्रविड़ टीम के कोच थे. शॉ ने कहा, ‘जब द्रविड़ सर होते हैं तो आपको अनुशासित होकर रहना पड़ता है. उनसे थोड़ा डर लगता है लेकिन मैदान के बाहर वह हमारे साथ दोस्त की तरह रहते थे.