Breaking News
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि चुनाव से पहले प्रदेश की जनता से किए गए वादों के अनुरूप काम कर रही है सरकार
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि लोकतंत्र के लिए पत्रकारिता एक महत्वपूर्ण स्तंभ
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने नैनीताल क्लब में आम जनता की समस्याओं को सुना
  • सासंद राज्य सभा उत्तराखंड नरेश बंसल ने भगवान बद्री विशाल के दर्शन किए
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से शुक्रवार को मुख्यमंत्री आवास में उ0प्र0 के मत्स्य पालन मंत्री  संजय निषाद ने भेंट की

सहसपुर से कांग्रेस प्रत्याशी आर्येन्द्र शर्मा पहुंचे जनता के बीच

देहरादून, न्यूज़ आई । लगातार दो दिनों से हो रही बारिश ने राजधानी देहरादून में जनजीवन अस्त-व्यस्त कर दिया है। लेकिन लगातार हो रही बारिश के बीच भी आगामी विधानसभा चुनावों को लेकर सरगर्मियां तेज हैं। सभी राजनीतिक पार्टियां और उम्मीदवार जनसम्मेलन और नुक्कड़ सभा कर जनता से रूबरू हो रहे हैं। इसी क्रम में राजधानी देहरादून की सबसे महत्वपूर्ण विधानसभा सीट सहसपुर से कांग्रेस प्रत्याशी आर्येन्द्र शर्मा ने लोवर कुलु, पानी नंदा चौकी, आमवाला, जामुनवाला, चौकी धोलासी में जनसम्मेलन को संबोधित किया।
जनसम्मेलन को संबोधित करते हुए आर्येन्द्र शर्मा ने कहा कि इन क्षेत्रों में मूलभूत सुविधाओं का निर्माण कांग्रेस शासनकाल में हुआ था। एन.डी. तिवारी जी के सहयोग से हमने इन क्षेत्रों में विकास कार्यों की नींव रखी थी. लेकिन बीजेपी के सत्ता में आते ही इन क्षेत्रों में कोई भी विकास कार्य नहीं हुआ है. सारी योजनाओं को बीजेपी सरकार ने ठंडे बसते में डाल दिया है. जिससे की सहसपुर विधानसभा बाकी क्षेत्रों के मुकाबले काफी पिछड़ चुकी है। आर्येन्द्र शर्मा ने कांग्रेस के घोषणा पत्र की बातों को दोहराते हुए कहा कि कांग्रेस ने 4 लाख नौकरियां देने का संकल्प लिया है. जिसे की कांग्रेस सत्ता में आते ही पूरा करेगी. साथ ही बढ़ते रसोई गैस के दामों पर भी नियंत्रण लगाया जायेगा। रसोई गैस के दाम 500 रुपये से ज्यादा नहीं होने दिया जायेगा। साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि वो खुद सहसपुर विधानसभा क्षेत्र के लिए 20 साल का विकास लक्ष्य ले कर चल रहे है. जिसमें की युवा, छात्र, महिला एवं व्यापारी हर एक लिए योजनाएं शामिल है. इस दौरान आर्येन्द्र शर्मा के साथ सभा में कांग्रेस नेता लक्ष्मी अग्रवाल, रंजीता तोमर, जिला पंचायत सदस्य कैप्टन बलबीर रावत, सैनिक प्रकोष्ठ मेघ सिंह एवं संजय किशोर भी मौजूद रहे।