Breaking News
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि चुनाव से पहले प्रदेश की जनता से किए गए वादों के अनुरूप काम कर रही है सरकार
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि लोकतंत्र के लिए पत्रकारिता एक महत्वपूर्ण स्तंभ
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने नैनीताल क्लब में आम जनता की समस्याओं को सुना
  • सासंद राज्य सभा उत्तराखंड नरेश बंसल ने भगवान बद्री विशाल के दर्शन किए
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से शुक्रवार को मुख्यमंत्री आवास में उ0प्र0 के मत्स्य पालन मंत्री  संजय निषाद ने भेंट की

केदारनाथ धाम के पुनर्निर्माण कार्यों में तेजी लाने के सीएम ने दिए निर्देश

देहरादून, न्यूज़ आई: मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गुरूवार को सचिवालय में केदारनाथ धाम के पुनर्निर्माण कार्यों एवं श्री बदरीनाथ धाम के मास्टर प्लान की प्रगति की समीक्षा की। मुख्यमंत्री ने कहा कि वे शीघ्र ही केदारनाथ का भ्रमण कर निर्माण कार्यों का स्थलीय निरीक्षण करेंगे। उन्होंने कहा कि केदारनाथ पुनर्निर्माण कार्य एवं श्री बदरीनाथ धाम के मास्टर प्लान के अनुसार किये जाने वाले विभिन्न निर्माण कार्यों में तेजी लायी जाय। उन्होंने निर्देश दिये कि इन योजनाओं का क्रियान्वयन प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के विजन के अनुसार किया जाना सुनिश्चित किया जाय। मुख्यमंत्री ने केदारनाथ की तरह बदरीनाथ मन्दिर परिसर के सौन्दर्यीकरण रीवर फ्रन्ट डेवलपमेंट, लेक फ्रन्ट डेवलपमेंट, एरावल प्लाजा आदि कार्यो की डीपीआर तैयार करने में भी शीघ्रता करने को कहा। उन्होंने निर्माण कार्यों में तेजी लाने के लिये लो.नि.वि. का डेडिकेटेड डिविजन बनाये जाने के निर्देश दिये।
सचिव पर्यटन दिलीप जावलकर ने मुख्यमंत्री को अवगत कराया कि केदारनाथ पुनर्निर्माण के लिये 170 करोड़ की धनराशि उपलब्ध है। जिसके अन्तर्गत 5 निर्माण कार्य प्रगति पर है। कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल रूम, क्यू मैनेजमेंट सिस्टम सेल्टर निर्माण, हास्पिटल विल्डिंग, संगम घाट पुनर्निर्माण, शंकराचार्य समाधि का कार्य प्रगति पर है।
उन्होने बताया कि केदारनाथ के पुनर्निर्माण के द्वितीय चरण के कार्य भी शीघ्र शुरू किये जायेंगे। सचिव पर्यटन ने बताया कि बदरीनाथ धाम का मास्टर प्लान फाईनल हो गया है। इसके तहत किये जाने वाले कार्यो के लिये 250 करोड़ की फंडिंग की व्यवस्था है। इसके तहत किये जाने वाले कार्यो की डीपीआर तैयार की जा रही है।
इस अवसर पर मुख्य सचिव डॉ. एस.एस.सन्धु, अपर मुख्य सचिव श्री आनन्द बर्द्धन, आयुक्त गढ़वाल श्री रविनाथ रमन आदि उपस्थित थे।