Breaking News
  • सीएम धामी ने पीएम मोदी से की भेंट, जीएसटी क्षतिपूर्ति की अवधि बढ़ाने का किया अनुरोध
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सैनिक स्कूल के लिए वित्तीय सहायता प्रदान किये जाने का किया रक्षा मंत्री से अनुरोध
  • सीएम धामी ने पीएम मोदी से की भेंट, जीएसटी क्षतिपूर्ति की अवधि बढ़ाने का किया अनुरोध
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने नई दिल्ली में केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से शिष्टाचार भेंट की।
  • मुख्यमंत्री उत्तराखंड सरकार पुष्कर सिंह धामी द्वारा अवैध खनन पर कड़ी कार्रवाई करने के दिए गए निर्देश

वित्त मंत्री ने COVID वैक्सीन के लिए 35,000 करोड़ रुपये की घोषणा की

नई दिल्ली: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण सोमवार को वित्त वर्ष 2021-22 का बजट पेश कर रही हैं. बजट भाषण के दौरान वित्त मंत्री ने आगामी वर्ष के लिए कोरोना वैक्सीन के विकास और विनिर्माण के लिए 35,000 करोड़ रुपये की घोषणा की है. उन्होंने कहा कि वित्त वर्ष 2021-22 में स्वास्थ्य क्षेत्र के लिए 2,23,000 करोड़ से ज़्यादा आवंटन किया गया, जो पिछले वित्त वर्ष की तुलना में 137 प्रतिशत ज्यादा है. केंद्र सरकार कोरोनावायरस संकट को लेकर बेहद सतर्क नजर आ रही है. बजट में नई हेल्थ स्कीम लॉन्च करने भी घोषणा की गई है.
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि केंद्र प्रायोजित नई स्कीम प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना लॉन्च की जाएगी. 6 सालों में 64,180 करोड़ रुपये खर्च होंगे. इसके तहत देश के 7 हजार से प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों, 11 हजार से ज्यादा शहरी स्वास्थ्य केंद्रों का उन्नयन किया जाएगा. देश में 17 नए सेंट्रल हेल्थ इंस्टीट्यूशन तैयार किए जाएंगे. हवाई अड्डों और सड़क से जुड़े सीमावर्ती क्षेत्रों में अत्याधुनिक हेल्थ सेंटर बनाए जाएंगे. बायोसेफ्टी लैब का भी निर्माण किया जाएगा. देश में इंटीग्रेटेड हेल्थ डेटाबेस को मजबूत किया जाएगा.
उन्होंने कहा कि भारत में अब प्रति मिलियन जनसंख्या पर COVID19 मृत्यु दर सबसे कम है और वहीं लगभग 130 प्रति मिलियन आबादी पर सबसे कम सक्रिय मामले भी हैं. गरीबों लोगों के लाभ के लिए सरकार ने अपने संसाधनों को बढ़ाया है. पीएम गरीब कल्याण योजना, तीन आत्मनिर्भर भारत पैकेज और उसके बाद की घोषणाएं अपने आप में पांच मिनी बजट की तरह थीं.
सीतारमण ने कहा कि शहरी स्वच्छ भारत मिशन 2.0 की शुरुआत होगी. शहरी स्वच्छ भारत मिशन 2.0 को 2021 से 5 वर्ष की अवधि में 1,41,678 करोड़ रूपए के कुल वित्तीय आवंटन से कार्यान्वित किया जाएगा.