Breaking News
  • सभी लोग ‘एक पेड़ मां के नाम’ लगाए तथा फोटो merilife.org पर अपलोड करें
  • सीएस राधा रतूड़ी ने सभी प्रदेशवासियों विशेषरूप से युवाओं से हरेला के अवसर पर वृक्षारोपण करने की अपील की
  • मुख्यमंत्री ने प्रदेशवासियों को हरेला पर्व की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि हरेला पर्व सुख, समृद्धि, शान्ति, पर्यावरण और प्रकृति संरक्षण का प्रतीक
  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने हरेला पर्व के अवसर पर मालदेवता देहरादून में आयोजित ‘शहीदों के नाम पौधरोपण’ कार्यक्रम में प्रतिभाग किया
  • मुख्यमंत्री ने एनएचपीसी के अधिकारियों को दिए निर्देश, अलर्ट जारी करने के बाद ही नदी में छोड़ें पानी

मोनिका खन्ना ने अपने संघर्षों के बारे में किए कई खुलासे

मोनिका खन्ना ने अपने करियर बनाने के दौरान आई कठिनाइयों और संघर्षों के बारे में कई खुलासे किए. उन्होंने कहा,” मैंने अपना करियर 2008 में शुरू किया था और पहला प्रोजेक्ट ‘माही वे’ 2010 में हुआ था. पिछले प्रोजेक्ट को बंद कर दिया गया था. हालांकि मुंबई ने मुझे खुली बांहों से स्वीकार किया है. मैं एक स्टार की तरह महसूस करती हूं और अब अपने रोल खुद चुन सकती हूं.”
मोनिका ने आगे कहा,”लेकिन यहां तक पहुंचने के लिए मुझे काफी संघर्ष करना पड़ा. माही वे के बाद मेरे पास एक साल तक काम नहीं था. मेरी कई परेशानियों के बीच आर्थिक समस्या भी जुड़ गई. इस दौरान मेरे पास खाना बनाने के लिए स्टोव तक नहीं था. कोई फ्रिज नहीं था. मैं अक्सर ब्लैक कोफी ही पीती थी. कई छोटी-बड़ी घटनाएं हुईं.